Ram Barat in Bareilly: ऐतिहासिक होली की निकाली गई 160वीं राम बरात

बरेली में होली के अवसर पर भव्य ऐतिहासिक राम बारात (Ram Barat) निकालने की परंपरा वर्षो से चली आ रही है । इसी क्रम में आज 160वीं राम बारात निकाली गई। जिसमें हजारों की संख्या में राम बाराती शामिल हुए। वैसे तो पूरा देश होली के रंग में रंगा हुआ है लेकिन बरेली की होली कुछ खास ही होती है। जिस वजह से लोगो को होली का बेसब्री से इंतजार रहता है।
ram barat 1बरेली में राम बारात आज सुबह 11 बजे मलूकपुर चौराहे से शुरू हुई। जिसका उद्घाटन पूर्व सांसद परवीन सिंह एरन और पूर्व उपसभापति अतुल कपूर ने पूजा-अर्चना के बाद हरी झंडी देकर किया। राम बारात रवाना होले के बाद बिहारीपुर ढाल, कुतुबखाना घन्टाघर, नावेल्टी चौराहा, रोडवेज, बरेली कॉलेज, कालीबाड़ी, श्यामगंज, सिकलापुर, मठ की चौकी, कुतुबखाना, बड़ा बाजार, साहूकारा, किला, सिटी स्टेशन से डलाव वाली मठिया होती हुई बमनपुरी के नरसिंह मंदिर पर समाप्त होगी।
ram barat 2राम बारात का दूसरा मोर्चा चाहबाई से निकला और वह कुतुबखाना से मुख्य बारात में शामिल होता है। इस राम बारात को लेकर प्रसाशन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। राम बारात के साथ काफी संख्या में पैरामिलिट्री फोर्स, पीएसी, और पुलिस बल भी तैनात रहा। इसके साथ ही राम बारात के रूट पर भी पुलिस का कड़ा पहरा रहा, साथ ही निगरानी के लिए छतों पर पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई। राम बारात की सीसीटीवी कैमरों के साथ ही ड्रोन कैमरों (Drone Camera) से भी निगरानी की गयी।
ram barat 3पूर्व सांसद प्रवीण सिंह एरन की माने तो उन्होंने बताया कि यह राम बारात गंगा-जमुना तहजीब की मिसाल पेश करती है। इस राम बरात में सभी धर्म के लोग एक दूसरे को गुलाल लगाकर होली का पर्व मनाते हैं।
ram barat 4जानिये कैसे निकलती है राम बारात
दरअसल बरेली में एक विशाल राम बारात निकालने की परंपरा है जिसमे हजारों हुरियारे एक दूसरे के ऊपर रंगों की बौछार करते हैं। शहर के विभिन्न मोहल्लों से गुजरने वाली इस राम बारात में हुरियारों की तमाम टोलियां शामिल रहती हैं, जो लोगों पर रंग और गुलाल की बारिश करते हुए आगे बढ़ती हैं। बरेली ही एक मात्र ऐसा शहर है, जहां पर होली के अवसर पर रामलीला का आयोजन किया जाता है।
ram barat 5इस रामलीला में होली के एक दिन पहले राम बारात का आयोजन किया जाता है। यह आयोजन पिछले 159 सालों से लगातार चलता आ रहा है। इस बार 160 वीं बार राम बारात का आयोजन किया गया। शहर के विभिन्न हिस्सों से गुजरने वाली इस राम बारात का स्वागत विभिन्न संगठनों के द्वारा जगह-जगह पर किया जाता है। इसके साथ ही लोग अपनी छतों से भी राम बारात पर फूलों की बारिश करते हैं। राम बारात में शामिल टोलियो को पानी की कोई कमी न रहे उसके लिए जिला प्रशासन पानी का पर्याप्त इंतजाम करता है। पानी के लिए नगर निगम के टैंकर और फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौजूद रहती हैं।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें