inspace haldwani
Home आध्यात्मिक रहस्य से उठा पर्दा : पृथ्वी पर जन्म लेने वाला पहला मानव...

रहस्य से उठा पर्दा : पृथ्वी पर जन्म लेने वाला पहला मानव कौन था और कैसे हुआ था उसका जन्म ?

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : धरती पर जन्म लेने वाला पहला मानव कौन था ऐसे सवाल अक्सर हमारे मन में आते हैं और जवाब चाह कर भी नहीं मिल पाता। लेकिन इस बात को नहीं नकारा जा सकता की आखिर वह मानव कौन था? जो सबसे पहले धरती पर आया और जिसके आने से धरती मनुष्य का घर बनी। इस सवाल का जवाब हमने ढूंढ निकाला कई मान्यता को पढ़ते हुए हमने जाना की कैसे मानव की रचना हुई। आइए जानते हैं पूरी कहानी-

640px-Adam

धरती पर जन्म लेने वाला पहला मानव कौन था

हिन्दू मान्यताओं की माने तो हमारे संसार को ईश्वर ने ही कायम किया है। लेकिन अभी भी प्रश्न यह बना हुआ है कि एक युग के बाद किस तरह से मनुष्य जाति का जन्म हुआ। हम सभी जानते हैं कि भगवान ब्रह्मा सृष्टि के रचयिता है। वही है इस कुल के राजा। जिन्होंने मानव की उत्पत्ति की। कई धार्मिक किताबों और पौराणिक कथा के अनुसार भगवान ब्रह्मा के शरीर से एक उनकी जैसी हूबहू शक्ति उत्पन्न हुई। जिसे देखकर ब्रह्माजी समझ नहीं पाए कि यह कौन है और इस तरह से अचानक उनके सामने कैसे प्रकट हुई। लेकिन यहीं प्रकृति का इशारा था। जो ब्रह्मा जी ने समझ लिया और यही शक्ति मानव संसार का पहला मानव बना।

manu satyarupa

धरती पर मानव की उत्पत्ति कैसे हुई?

ब्रह्मा जी ने उनके जैसी दिखने वाली काया का नाम स्वयंभुव मनु रखा। जो धरती पर पहला मानव कहलाया। भगवान ब्रह्मा ने 11 प्रजातियों और 11 रूद्र को उत्पन्न किया। तब अंत में उन्होंने स्वयं की शक्ति को दो भागों में बांट दिया। पहला भाग मनु के रूप में और दूसरा भाग शतरूपा के रूप में निकल कर सामने आया। भगवान ब्रह्मा ने प्रजातियों को प्रकाश से, रूद्र को अग्नि से और अपने दोनों भागों को मिट्टी से बनाया। इसलिए मानव को मिट्टी की काया का कहा जाता है।

Lucas_

मनु से बन गया मानव

हमने आपको बताया कि सबसे पहले धरती पर मनु आए और फिर स्त्री रूप में शतरूपा। दोनों ने संसार की रचना की इसलिए संपूर्ण जाति का नाम मानव पड़ गया। जिसे कई भाषाओं में ‘म’ के नाम से ही जाना गया जैसे संस्कृत में मनुष्य और अंग्रेजी में मैन।

सिद्ध हुआ कि मनु ही है पहले मानव

यदि हम बात करें कि क्या हर जाति, हर धर्म इस बात को मानता है कि सबसे पहले मनु इस धरती पर आए। यह बात बहुत हद तक सही और सत्य है कि मनु ही इस धरती का पहला मानव थे। लेकिन यदि हम दूसरे धर्मों की बात करें तो ‘ऐडम’ की जन्म की कहानी सामने आती है। जैसे परछाई से मनु ने जन्म लिया वैसे ही बाइबल में कहा गया कि ईश्वर की परछाई से ही एक जीव ने भी जन्म लिया। जिसे ऐडम नाम दे दिया गया। इन दोनों कथाओं की तुलना की जाए तो ब्रह्मा जी का स्वरूप मनु को ही पहला मानव माना जाता है।

Related News

अगर माघ मेले में प्रयागराज आ रहे हैं तो पहले देखेें गाइडलाइन, जानिए, किस दस्तावेज के बिना यहां नहीं मिलेगी एंट्री

मकर संक्रान्ति से संगम पर उमड़ेगा आस्‍था का सैलाब न्‍यूज टुडे नेटवर्क। इस बार के प्रयागराज के माघ मेले में बिना कोरोना की जांच रिपोर्ट...

मुरादनगर श्‍मशान हादसा : मुख्‍य आरोपी ठेकेदार अजय त्‍यागी गिरफ्तार, यहां भागने की तैयारी में था

न्‍यूज टुडे नेटवर्क, गाजियाबाद। मुरादनगर में हुए श्‍मशान हादसे के मुख्‍य आरोपी बनाए गए ठेकेदार अजय त्‍यागी को देर रात पुलिस ने पकड़ लिया।...

Chhath Puja 2020- नहाय खाय के साथ शुरू हुआ छठ महापर्व, पढिय़े आखिर क्यों मनाया जाता है यह त्योहार

लोक आस्था का छठ महापर्व छठ नहाय खाय के साथ शुरू हो गया है। पर्व की खुशियों पर कोरोना संक्रमण का साया न मंडरा...

ऐसे शुरू हुआ बूढ़ी दिवाली मनाने का प्रचलन, पढिय़े किन राज्यों में जारी है ये परम्परा

हर साल दीपावली के बाद बूढ़ी दिवाली मनाई जाती है। बूढ़ी दिवाली खासकर पहाड़ी क्षेत्रों में मनाई जाती है। हिमाचल और उत्तराखंड के कई...

पटाखों जलाते समय बरते सावधानी, नहीं तो आंखों को हो सकता है ये नुकसान

दिवाली का त्योहार पूरे देश में बड़े हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता हैं। पटाखों की गूंज और रोशनी से यह त्योहार धमाकेदार...

499 वर्ष के बाद दीपावली पर होगा यह दुर्लभ संयोग, ग्रहों के होंगे दुर्लभ योग, जानिए कब, कैसे क्या हैं कारण, देखें यह खबर…

बरेली,न्‍यूज टुडे नेटवर्क। इस बार दीपावली पर दुर्लभ संयोग उत्‍पन्‍न हो रहा है। लगभग ४९९ वर्षों के बाद यह दुर्लभ संयोग बन रहा है।...