Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश QR CODE SCANNING:  बरेली: परीक्षा में सॉल्‍वर बैठाया तो पकड़ लेगा क्‍यूआर...

QR CODE SCANNING:  बरेली: परीक्षा में सॉल्‍वर बैठाया तो पकड़ लेगा क्‍यूआर कोड

Covid-19: झाड़ू लगाने से भी फैलता है कोरोना, AIIMS के डॉक्टर का दावा

देश में कोरोना वायरस तेजी से बढ़ता जा रहा है। बड़ी सी बीच चौंकाने वाली रिपोर्ट्स भी सामने आ रही हैं। ऐसे में एम्स...

COVID-19: देश में रिकवरी रेट हुआ 80 प्रतिशत से अधिक, एक दिन में ठीक हुए इतने मरीज

देश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बड़े रहे हैं। पिछले एक दिन में 90 हजार से अधिक...

MJPRU: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी फिर शुरू कर रहा है एमफार्मा, इन विषयों की होगी पढ़ाई

बरेली: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी (Rohilkhand University) के फार्मेसी विभाग को एमफार्मा (M Pharma) पाठ्यक्रम दोबारा शुरू करने की अनुमति मिल गई है। इससे समय से...

COVID-19: देश में कोरोना के नए मामलों में आई कमी, 24 घंटे में सामने आए इतने नए केस

देश में पिछले 24 घंटे में आए कोरोना के नए मामलों में कमी आई है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के...

यूपी: भू-माफियों से खाली कराई जाएंगी जमीनें, योगी सरकार ने बनाई यह कार्ययोजना

योगी सरकार (Yogi government) एक बार फिर से भू-माफियों के खिलाफ सख्त नजर आ रही है। सरकार ने भू-माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने की...

QR CODE SCANNING:  देवरिया में यूपी बोर्ड परीक्षा  (UP Board Exam) में सॉल्वरों  (solvers) के पर्दाफाश के बाद बरेली मंडल में भी अलर्ट  (alert) जारी कर दिया गया है। मुन्ना भाइयों को पकड़ने के लिए हर केंद्र पर प्रवेश पत्र (admit card) में छपे क्यूआर कोड (QR Code) की रेंडम स्कैनिंग (random scanning) की जाएगी।
board exam
पहले दिन ही देवरिया  में मुन्ना भाई गैंग का पर्दाफाश हुआ था। गैंग के पास फर्जी प्रवेश पत्र और मार्कशीट (marksheet) बरामद हुई हैं। बरेली में यूपी बोर्ड परीक्षा के दौरान भी कई सॉल्वर पकड़े जा चुके हैं। इसी कारण जेडी डॉ. प्रदीप कुमार ने पूरे मंडल में अलर्ट जारी कर दिया है। उन्होंने बताया कि मैंने परीक्षा केंद्रों (examination center) के निरीक्षण के दौरान तमाम छात्रों के प्रवेश पत्र पर बने क्यूआर कोड को स्कैन  (QR Code Scan)  करके देखा क्यूआर कोड स्कैनिंग से सारी सूचनाएं स्पष्ट हो जाती हैं। फर्जी प्रवेश पत्र होने पर क्यूआर कोड स्कैन नहीं होगा।

प्रदीप कुमार ने बताया की सभी छात्रों के प्रवेश पत्र स्कैन नहीं किये जा सकते लेकिन बारीकी से देखने पर फर्जी छात्र खुद ही पता चल जाते हैं। उनके प्रवेश पत्र को हर हाल में स्कैन किया जाएगा। यह व्यवस्था अब सभी केंद्रों पर की जा रही है जिससे सॉल्वरों को परीक्षा में बैठने से रोका जा सके।

Related News

Covid-19: झाड़ू लगाने से भी फैलता है कोरोना, AIIMS के डॉक्टर का दावा

देश में कोरोना वायरस तेजी से बढ़ता जा रहा है। बड़ी सी बीच चौंकाने वाली रिपोर्ट्स भी सामने आ रही हैं। ऐसे में एम्स...

COVID-19: देश में रिकवरी रेट हुआ 80 प्रतिशत से अधिक, एक दिन में ठीक हुए इतने मरीज

देश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बड़े रहे हैं। पिछले एक दिन में 90 हजार से अधिक...

MJPRU: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी फिर शुरू कर रहा है एमफार्मा, इन विषयों की होगी पढ़ाई

बरेली: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी (Rohilkhand University) के फार्मेसी विभाग को एमफार्मा (M Pharma) पाठ्यक्रम दोबारा शुरू करने की अनुमति मिल गई है। इससे समय से...

COVID-19: देश में कोरोना के नए मामलों में आई कमी, 24 घंटे में सामने आए इतने नए केस

देश में पिछले 24 घंटे में आए कोरोना के नए मामलों में कमी आई है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के...

यूपी: भू-माफियों से खाली कराई जाएंगी जमीनें, योगी सरकार ने बनाई यह कार्ययोजना

योगी सरकार (Yogi government) एक बार फिर से भू-माफियों के खिलाफ सख्त नजर आ रही है। सरकार ने भू-माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने की...

Bareilly: गर्मा गर्मी के बीच आए IMA पदों के नतीजे, देखें कौन बना नया अध्यक्ष

बरेली में आईएमए अध्यक्ष पद के चुनाव (IMA President election) के नतीजे सामने आ गए हैं। पति के लिए त्रिकोणीय मुकाबले में डॉ. विमल...