PMS Group Venture haldwani

राजनीति में प्रियंका वाड्रा की धमाकेदार एंट्री…कांग्रेस की आखिरी उम्मीद जैसी है प्रियंका गांधी वाड्रा… जानिए कहां से उतरेंगी मैदान में !

244
Slider

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : आखिरकार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी वाड्रा की 47 वर्ष की उम्र में राजनीति में एंट्री हो ही गई है। कांग्रेस ने प्रियंका को पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान सौंप दी है। पू्र्वी उत्तर प्रदेश को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गढ़ माना जाता है। ऐसे में प्रियंका आगामी लोकसभा चुनाव में योगी को सीधी चुनौती देती नजर आएंगी। वह फरवरी के पहले सप्ताह में कार्यभार संभालेंगी। पिछले लोकसभा और विधानसभा चुनावों में भी प्रियंका पार्टी की रणनीति तय करने और उम्मीदवारों के चयन में महत्वपूर्ण भूमिका निभा चुकी हैं। हालांकि यह पहली बार है जब पार्टी में उन्हें औपचारिक पद दिया गया है।

A one Industries Haldwani

maxresdefault

Slider

प्रियंका को मिल रहीं बंधाइयां

प्रियंका को ये जिम्मेदारी मिलते ही बधाई मिलने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा ने भी उन्हें बधाई दी। रॉबर्ट वाड्रा ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा, ‘‘बधाई हो क्क, जिंदगी के हर फेज में मैं आपके साथ खड़ा हूं, अपना बेस्ट दें’’। प्रियंका गांधी का जन्म 12 जनवरी 1972 को दिल्ली में हुआ था।

priyanka-68

यूपी की ‘बेटी’ के साथ ‘बहू भी

गौरतलब है कि प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश की बेटी होने के साथ-साथ बहू भी हैं। रॉबर्ट वाड्रा और प्रियंका गांधी की शादी 1997 में हुई थी। रॉबर्ट वाड्रा मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के रहने वाले हैं। प्रियंका और रॉबर्ट वाड्रा की लव मैरिज हुई थी। गौरतलब है कि रॉबर्ट वाड्रा कई बार आरोप लगाते रहे हैं कि क्योंकि वह गांधी परिवार के दामाद हैं, यही कारण है कि उन्हें राजनीतिक तौर पर निशाने पर लिया जाता है।

pr

पहले भी कर चुकी हैं प्रचार

आपको बता दें कि प्रियंका गांधी इससे पहले भी अनौपचारिक रूप से राजनीति में सक्रिय रही हैं। इससे पहले वह रायबरेली और अमेठी में अपनी मां सोनिया गांधी और भाई राहुल गांधी के लिए प्रचार प्रसार करती रही हैं। अब जब वह आधिकारिक रूप से राजनीति में आ गई हैं ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि लोकसभा चुनाव भी लड़ सकती हैं।

भाजपा ने कांग्रेस पर बोला हमला

प्रियंका के राजनीति में आने पर भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर हमला बोला है। बीजेपी के संबित पात्रा का कहना कि प्रियंका गांधी के आने से ये तय हो गया है कि कांग्रेस ने ये मान लिया है कि राहुल गांधी विफल साबित हुए हैं। इसके अलावा भी बीजेपी के अन्य नेताओं ने प्रियंका की एंट्री पर निशाना साधते हुए इसे परिवारवाद की राजनीति बताया है।

priyanka_politics

राहुल ने दी ये प्रतिक्रिया

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी प्रियंका गांधी के आने पर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि प्रियंका के राजनीति में आने से उन्हें काफी निजी खुशी मिली है। राहुल का कहना है कि प्रियंका गांधी सिर्फ दो महीने नहीं बल्कि लंबे समय के लिए उत्तर प्रदेश भेजा जा रहा है।

indira-and-priyanka_

भाषण को लेकर नयन नक्श में दादी की झलक

प्रियंका गांधी में लोगों ने शुरू से ही इंदिरा गांधी का अक्स देखा। नयन नक्श में तो प्रियंका गांाी अपनी दादी इंदिरा की तहर दिखती हैं। लेकिन जब वो लोगों से मिलती हैं तो उस दौरान भी आव-भाव बिल्कुल दादी की तरह दिखते हैं। यहीं वजह है कि लोग उनके प्रति काफी आकर्षित होते हैं। अपने लुक्स के अलावा प्रियंका के भाषणों में भी दादी इंदिरा की तरह धारा प्रवाह हैं।

कांग्रेस का गेम चेंजर

कांग्रेस पार्टी के लिए प्रियंका गांधी ने हमेशा अहम रोल अदा किया। पर्दे के पीछे रहकर भी एक नेता की तरह ही प्रियंका हमेशा काम करती रहीं। पर्दे के पीछे से ही प्रियंका ने न सिर्फ उत्तर प्रदेश बल्कि देशभर में पार्टी के लिए कई अहम रणनीतियां बनाईं फिर चाहे वो टिकट का आवंटन हो या फिर गुटबाजी की मुश्किल। हर परेशानी से वो पार्टी को उबारने का माद्दा रखती हैं। यही वजह है कि 2018 में पार्टी के वरिष्ठ ने सलमान खुर्शीद ने इशारा किया था कि 2019 में प्रियंका गांधी लोकसभा चुनाव में अहम भूमिका निभाएंगी।

shree guru ratn kendra haldwani