drishti haldwani

नई दिल्ली- अब पायरेशी रोकने लिए पीएम उठाएंगे ठोस कदम, भारतीय फिल्म लोकप्रियता को लकेर कही ये बड़ी बात

101

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: विदेशी नेताओं के साथ बातचीत के दौरान भारतीय फिल्मों और उनकी लोकप्रियता देखकर देश के प्रधान मंत्री मोदी चकित रह गए। यह बात उन्होंने शनिवार को दक्षिणी मुंबई स्थित ‘नेशनल म्यूजियम ऑफ इंडियन सिनेमा’ का उद्धघाटन के दौरान मौजूद सभी फिल्मकारों से कही। इस दौरान फिल्म इंडस्ट्री के कलाकारों को संबोधित करते हुए पीएम ने हाल ही में आई फिल्म ‘उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक’ के एक डायलॉग ‘हाऊ इज द जोश’ से अपनी बात शुरू की। जिसके जवाब में लोगों ने ताली बजाते हुए कहा ‘हाई सर’।

iimt haldwani

जिसके बाद पीएम ने कहा, ‘आप सबसे एक सवाल है, क्योंकि यहां पर पुरानी और नई हर पीढ़ी के लोग मौजूद हैं और आपके बीच आया हूं, इसलिए मेरे मन में एक सवाल है ‘हाऊ इज द जोश’ जिसके जवाब में लोगों ने ताली बजाते हुए कहा ‘हाई सर’। पीएम ने कहा आजकल आपके इस जोश की देश में बहुत चर्चा है। नए भारत के निर्माण के लिए आपका ये जोश बहुत मायने रखता है।’

देश बदल रहा है

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा, ‘देश बदल रहा है और अपने समाधान तलाश रहा है। अगर यहां करोड़ों समस्याएं हैं तो एक अरब समाधान भी हैं। भारत की सांस्कृतिक शक्ति (सॉफ्ट पॉवर) में फिल्मों की महत्वपूर्ण भूमिका है।

पायरेसी को रोकने के लिए उठाएंगे ठोस कदम

प्रधानमंत्री ने फिल्म उद्योग को आश्वासन दिया कि पायरेसी और छिपे कैमरे से रिकॉर्डिंग रोकने के लिये प्रभावी कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने ने कहा, ‘जल्द ही फिल्म की शूटिंग और उससे जुड़ी मंजूरियों के लिये एकल खिड़की व्यवस्था तैयार की जा रही है।’ कहा कि दावोस में हुए विश्व आर्थिक मंच सम्मेलन की तरह भारत में वैश्विक फिल्म सम्मेलन आयोजित किया जा सकता है। पीएम ने कहा , ‘पर्यटन को बढ़ावा देने में भी फिल्मों का अहम योगदान होता है। जिससे गरीबों को भी रोजगार मिलता है।