drishti haldwani

पिथौरागढ़- पटवारी की इस हरकत ने ऐसे छीन ली इस परिवार की खुशियां, जिलाधिकारी से लगाई इंसाफ की गुहार

1212

Pithoragarh Suicide, वैसे तो जिले में प्रशासनिक अधिकारी या कर्मचारी आम जनता की दिक्कत समस्याओं का समाधान करने के लिए होते है। इसके अलावा पूरे जिले के विकास और सुरक्षा कार्यों की लगाम भी इनके ही हाथों में होती है। लेकिन अगर ये जिम्मेदार अधिकारी या कर्मचारी ही जनता को बोझ समझने लगे, उसने अभद्रता कर मारपीट करने लगे तो ऐसे में आम जनता की जिम्मेदारी आखिर किसके हाथों होगी। ऐसा ही एक दिल दहला देने वाला मामला पिथौरागढ़ जिले के थल तहसील क्षेत्र से सामने आया है। जहां मुवानी घाटी के पीपलतड़ गांव में एक दिव्यांग बुजुर्ग ने सल्पास खाकर आत्महत्या कर ली।

iimt haldwani

पटवारी ने लाठी-डंडों से की पिटाई

बुजुर्ग के परिजनों का आरोप है कि उनके क्षेत्र के राजस्व उपनिरीक्षक (पटवारी) ने बुजुर्ग के साथ मारमीट की थी। जिस कारण वह इस सदमे को नहीं सहन कर सके। वही मामल में परिजनों ने जिलाधिकारी से पटवारी के खिलाफ अविलंब कार्रवाई करने की मांग की है। मृतक दिव्यांग 70 वर्षीय चंद्र सिंह के पुत्र प्रवीन सिंह का कहना है कि रविवार को उनके पिता की गांव के एक व्यक्ति के साथ किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई थी।

Pithoragarh suicide case

उस व्यक्ति द्वारा क्षेत्र के पटवारी को बुलाया गया। मौके पर पहुंचे पटवारी ने उनके पिता को पंचायत घर में ले जाकर लाठी-डंडों से पीटा। जिस कारण उनके आत्मसम्मान को काफी ठेस पहुंची और सदमे में आकर उन्होंने आत्मघाती कदम उठाया। परिजनों ने आरोप लगाया कि पटवारी इससे पहले भी उन्हें कई बार प्रताड़ित कर चुका है। परिजनों ने जिलाधिकारी से पटवारी के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की मांग की। इस संबंध में अपर जिलाधिकारी आरडी पालीवाल ने कहा कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है।