जमीन पर कदम नहीं रखते इस गांव के लोग ! 1300 सालों में पानी में तैर रहा ये गांव

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : हम लोग ये तो जानते है कि पानी के बिना जिंदा रहना बहुत मुश्किल हैं लेकिन क्या आप ये जानते है कुछ लोग 24 घण्टे पानी में रहते है। जी हां, धरती पर एक ऐसा ही गांव है, जिसका हर व्यक्ति 24 घंटे पानी में ही रहता है। इन लोगों की एक अलग दुनिया है, जो रोमांचक तो है पर साथ ही खतरनाक भी है। अपना पूरा जीवन समुद्र के बीच में बिताना कोई आसान बात नहीं है।

water

समुन्दर के ऊपर तैरते हैं घर

आज हम दुनिया के सबसे ज्यादा आबादी वाले देश चीन की बात कर रहे है, जहां लोग जमीन को छोड़ समुन्दर के ऊपर तैरते हुए घर बनकर रहते हैं। जी हां, चीन के निंगडे शहर में “टांका” जाति के लोग समुन्दर पर घर बनकर रहते हैं। यहां के लोगों की पूरी एक बस्ती समुन्दर पर घर बनकर रहती है। इनकी एक बस्ती हमेशा पानी में तैरती रहती है और कुछ सालों से नहीं बल्कि 1300 सालों से तैर रहा है।

it-is-only-s:

यह गांव लगभग 1300 वर्ष पुराना

इनके घर समुन्दर पर तैरते रहते है। समुद्र पर बसा ये दुनिया का एक मात्र गांव है। जानकारी के मुताबिक, यह गांव लगभग 1300 वर्ष पुराना और यहां की आबादी करीब 8500 है। दरअसल ये लोग मछुआरे है जिन्हें टांका कहते हैं। इन टांका जनजाति के लोगों के बारे में कहा जाता है कि शासकों के अत्याचारों से त्रस्त होकर इस समुदाय के लोग समुद्र किनारे आकर बस गए थे।

l_sea-

समुद्री जीवों से चलती है आजीविका

ये जमीन पर कदम भी नहीं रखते है। इसके अलावा ये जमीन पर रहने वाले लोगों से नफरत करते हैं और उन्हें अपने पास नहीं आने देते हैं। इन लोगों की आजीविका समुद्री जीवों से चलती है। चीन में यह बस्ती फुजियान राज्य में दक्षिण पूर्व की निंगडे सिटी के पास समुद्र में स्थित हैं। जिसे जिप्सीज ऑफ द सी नाम से जाना जाता है।