iimt haldwani

हल्द्वानी-अब गया फॉग का जमाना, चुनाव में फॉगिंग बनी प्रत्याशियों की राह का रोड़ा

301

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क- भाई क्या चल रहा है कुछ नहीं फॉग चल रहा वाला डायलॉग अब पुरानी बात हो गई। निकाय चुनाव में प्रत्याशियों को फॉग से नहीं फॉगिंग से डर लग रहा है। अभी तक देखने में आया है कि जो भी प्रत्याशी प्रचार-प्रसार के लिए गलियों में जा रहे है। उन जवाब मिल रहा है कि फॉगिंग क्यों नहीं कराई गई। फॉगिंग नहीं होने से गर्मियों में जहां एक ओर मच्छरो ने परेशान किया वहीं कई घातक बीमारियां भी दे गये। मलेरिया और डेंगू से अस्पताल भर गये। लोगों ने सरकारी अस्पतालों से लेकर निजी अस्पताओं तक अपना इलाज में लाखों रुपये खर्च किये। चुनाव सीजन शुरू होते ही प्रत्याशी गली-गली, घर-घर पहुंच रहे है। ऐसे में उन्हें सबसे एक ही जवाब मिल रहा कि इस बार फॉगिंग क्यों नहीं कराई गई। जिस पर कई प्रत्याशी अपने को बचाते हुए कह रहे है कि सत्ता हमारी नहीं थी और फिर आगे बढ़ रहे है।

drishti haldwani

नगर निगम प्रशासन की रही बड़ी लापरवाही

समूचे नगर निगम क्षेत्र में फॉगिंग का जिम्मा नगर निगम के हाथ में है। गर्मियों में फॉगिंग ने करना अधिकारियों की एक बड़ी लापरवाही रही। इससे लोग परेशान रहे और लगतार मलेरिया और डेंगू जैसी बीमारी से जूझते रहे। हालांकि नगर निगम द्वारा बीमारियों की रोकथाम के लिए दो बार फॉगिंग अभियान चलाया गया। पहले चरण में 6 सितम्बर से 29 सितम्बर तक राजपुरा वार्ड नंबर दो व वार्ड नंबर 13, आवास विकास, निगम के अंदर सरकारी कार्यालय, वार्ड नंबर 12 पर्वतीय मोहल्ला, वार्ड नंबर 16 सुभाष नगर, वार्ड नंबर 5 काठगोदाम, वार्ड नंबर 6 शीशमहल, वार्ड नंबर तीन नवाबी रोड, वार्ड नंबर18 ला.नंबर 14 बनभूलपुरा, वार्ड नंबर 20 ला.नंबर 17 आजाद नगर, वार्ड नंबर 9 पौलीसीट, वार्ड नंबर चार टनकपुर रोड, वार्ड नंबर तीन नवाबी रोड व वन विभाग, वार्ड नंबर छह शीशमहल, वार्ड नंबर 22किदवई नगर और वार्ड नंबर 8 बाजार क्षेत्र में किया गया।
वही दूसरे चरण में वार्ड नंबर एक गांधी नगर, वार्ड नंबर सात हीरा नगर, वार्ड नंबर 10 बद्रीपुरा, वार्ड नंबर11 मल्ला गोरखपुर, वार्ड नंबर12 पर्वतीय मोहल्ला, वार्ड नंबर 13 आवास विकास, वार्ड नंबर 14 उजाला नगर, वार्ड नंबर 15 भोलानाथ गार्डन, वार्ड नंबर 17 रामपुर रोड, वार्ड नंबर14 उजाला नगर, वार्ड नंबर 19 तिकोनियां, वार्ड नंबर 21 इन्द्रानगर, वार्ड नंबर 24 चोरगलिया रोड, वार्ड नंबर 25 ला.नंबर 18 से 20 और वार्ड नंबर 26 दमुवाढूंगा में फॉगिंग की गई।

हमेशा खराब रहती है दो मशीनें – चित्र सिंह

नगर निगम के सफाई निरीक्षक चित्र सिंह का कहना है कि हमने दो चरणों में फॉगिंग की। उन्होंने बताया कि निगम के पास पांच मशीनें उपलब्ध है। जिनमें से अक्सर दो मशीनें खराब रहती है। जिन्हें ठीक करने के लिए रुद्रपुर ले जाना पड़ता है। वही उन्होंने बताया कि एक बार कि फॉगिंग में किंग एक लीटर फोग, 80 लीटर डीजल और 8 लीटर पेट्रोल की आवश्यकता होती है। हालांकि इस बार कई क्षेत्रों में फॉगिंग की गई। मशीनों की मरम्मत के लिए कई बार अधिकारियों से कह चुके है लेकिन कोई इस ओर ध्यान नहीं देता। वहीं कई क्षेत्र छूट गये। बता दें कि निवर्तमान मेयर जोगेन्द्र रौतेला को इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।