drishti haldwani

अब बिजली चोरी करने वालों को ऐसे सबक सिखाएंगे पीएम मोदी, शुरू करने जा रहे ये नई स्कीम

231

PM Modi Bijli Yojna, अब बिजली चोरी वाले इलाकों में ज्यादा कटौती होगी। लेकिन ईमानदारी से बिजली इस्तेमाल करने वालों को 24 घंटे सप्लाई होगी। मोदी सरकार ईमानदार बिजली कंज्यूमर के लिए नई स्कीम ला रही है। इसके तहत ईमानदार कंज्यूमर को अब 24 घंटे बिजली मिलेगी। केंद्र सरकार राज्यों के साथ मिलकर ऐसी प्लानिंग तैयार कर रही है जिसके तहत वैसे एरिया जहां बिजली की चोरी नहीं होती है वहां 24 घंटे बिजली की सप्लाई की जा सके।

iimt haldwani

इस आधार पर तैयार हुई योजना

सूत्रों के मुताबिक बिजली वितरण घाटा के आधार पर ये योजना तैयार की गई है। जिसके लिए एरिया के आधार पर बिजली घाटे की जानकारी मांगी गई है। इस योजना के तहत 15% से कम घाटे वाले एरिया में 24 घंटे सप्लाई संभव है। इस योजना में घाटा वाले इलाके में कंज्यूमर को बिल चुकाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इन इलाकों में स्मार्ट मीटर लगाने की भी योजना है। ये योजना पावर रिफॉर्म 2.0 का हिस्सा होगी। बता दें कि चुनाव से पहले सरकार ने कंपनियों से इस बारे में जानकारी मांगी थी। अभी 19 राज्यों में बिजली विरतण घाटा 15% से ज्यादा है।

PM Modi electricity Scheme

होंगे ये सारे फायदें

सूत्रों की मानें तो इस स्कीम के लागू होजाने से सरकार को बिजली बंटवारे में भी मदद मिलेगी। इसके अलावा बिजली वितरण घाटे के आधार पर बिजली सप्लाई की व किस क्षेत्र में कितनी बिजली सप्लाई हो इसकी प्लानिंग में मदद मिलेगी। सरकार ने क्षेत्र के आधार पर बिजली वितरण घाटे की जानकारी मांगी, बता दें जहां 15% से कम घाटा वहां चौबीसों घंटे बिजली की सप्लाई होगी। जो कंज़्यूमर ईमानदारी से बिल चुका रहे हैं उन्हें चौबीसों घंटे बिजली की सप्लाई दी जाएगी।

यह इसलिए ताकि ज्यादा बिजली चोरी वाले इलाके सप्लाई के फ़र्क़ को समझें। जहां 15% से ज्यादा वितरण घाटा वहां कंज़्यूमर को बिल चुकाने को प्रोत्साहित किया जाए। ज्यादा घाटे वाले इलाके में स्मार्ट मीटर पहले लगाने की योजना शुरू की जाएगी। बता दें कि नई योजना पावर रिफार्म 2.0 का हिस्सा होगा। चुनावों से पहले भी सरकार ने वितरण घाटे के आधार पर एरिया की जानकारी मांगी थी, जिसमें करीब 19 राज्यों में बिजली वितरण घाटा 15% से ज़्यादा पाया गया था।

केंद्र की मोदी सरकार बिजली सप्लाई को बेहतर कर ग्राहकों को बड़े बिजली कट से बचाने के लिए बड़े कदम उठाने की तैयारी में है। दिन में तीन तरह के पावर टैरिफ हो सकते हैं। वहीं, सुबह, दोपहर और शाम को बिजली की अलग-अलग दर होंगी। रात की बिजली की दर अभी जितनी है उससे ज्यादा नहीं होगी।