inspace haldwani
inspace haldwani
Home योजनाएँ अब पेंशनधारियों को चिंता की जरूरत नहीं, घर बैठे ऐसे जमा होगा...

अब पेंशनधारियों को चिंता की जरूरत नहीं, घर बैठे ऐसे जमा होगा ई-जीवन प्रमाण पत्र

हल्द्वानी- HPMI संस्था के खेती के फार्मूले से किसान होंगे माला माल, ऐसे बन रही है रणनीति

हल्द्वानी - हाइड्रोपोनिक्स सिस्टम आधारित वर्टिकल फार्मिंग के अंतर्गत एच पी एम आई संस्था द्वारा प्रति वर्ग मीटर अधिक उत्पादन के लिए एक पायलट...

त्रिवेन्द्र सरकार की मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, ऐसे शुरू करें मसाला उद्योग

प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए राज्य सरकार लगातार रोजगार मुहैया कराने में जुटी है। इन युवाओं को रोजगार से जोडऩे के लिए त्रिवेन्द्र...

त्रिवेन्द्र सरकार की मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, ऐसे शुरू करें ऊनी हथकरघा उद्योग

प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए राज्य सरकार लगातार रोजगार मुहैया कराने में जुटी है। इन युवाओं को रोजगार से जोडऩे के लिए त्रिवेन्द्र...

त्रिवेन्द्र सरकार की मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, शुरू करें फोटोग्राफी/वीडियोग्राफी योजना

प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए राज्य सरकार लगातार रोजगार मुहैया कराने में जुटी है। इन युवाओं को रोजगार से जोडऩे के लिए त्रिवेन्द्र...

यौन एवं प्रजनन स्वास्थ्य के बेहतर परिणामों के लिए सक्रिय माहौल और कार्यक्रमों का सुदृढ़ीकरण करना होगा

बरेली।  एक नए अध्ययन में कहा गया है कि उचित सामाजिक वातावरण तथा सूचनाओं व सेवाओं संबंधी क्रियाओं को मजबूत करने से यौन एवं...

वरिष्ठ नागरिकों के लिए सेवानिवृत्ति के बाद पेंशन आय का एक महत्वपूर्ण स्रोत है। पेंशनभोगियों को सेवानिवृत्ति के बाद बैंक जैसे अधिकृत पेंशन संवितरण एजेंसी में अपना जीवन प्रमाण-पत्र जमा कराना पड़ता है, जिसके बाद ही उन्हें पेंशन दी जाती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डिजिटल इंडिया की मुहिम को आगे बढ़ाने की दिशा में उत्तराखंड सरकार ने पेंशनरों को जीवन प्रमाणपत्र के मामले में बड़ी राहत दी है। अब डिजिटल माध्यम से ई-जीवन प्रमाणपत्र दिया जायेगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आइएफएमएस सॉफ्टवेयर का लोकार्पण कर दिया।

e-jeevan life

यह भी पढ़ें-रिटायरमेंट के बाद पैसों को लेकर जरूर रखें इन बातों का ध्यान, नहीं तो पड़ेगा पछताना

अब उत्तराखंड के पेंशनर देश-विदेश कहीं से भी ई-जीवन प्रमाणपत्र ऑनलाइन जमा कर सकेंगे। कॉमन सर्विस सेंटर से भी यह सुविधा मिलेगी। पेंशनर अपने नजदीकी सीएससी से ई-जीवन प्रमाणपत्र ऑनलाइन जमा करा सकेंगे। दूर-दराज के क्षेत्रों से बुजुर्गों को चलकर आना पड़ता है। जिसे देखते हुए ई-जीवन प्रमाणपत्र की व्यवस्था की गई है। ई-जीवन प्रमाण पत्र को कोषागार, उपकोषागार, सीएससी, पर्सनल कंप्यूटर, टैब और मोबाइल एप से भी भरा जा सकेगा। प्रमाणपत्र के स्वीकृत होने पर इसकी सूचना मोबाइल नंबर और मेल आइडी पर उपलब्ध रहेगी। राज्य के करीब 1.52 पेंशनरों और न्यू पेंशन स्कीम को भी ई-गवर्नेंस से जोड़ा गया है।

यह भी पढ़ें-युवाओं को मछली पालन से जोडऩा चाहती है केन्द्र सरकार, जानिए क्या है फायदे

क्या है विशेषतायें-

ई-जीवन प्रमाण पत्र पूर्णत: सुरक्षित है।
आधार व्यवस्था से क्रियांन्वित होने के फलस्वरूप ई-जीवन प्रमाण पत्र त्वरित जनरेट होता है।
ई-जीवन प्रमाण पत्र प्रदेश के किसी भी कोषागार/उपकोषागार से भरा जा सकता है।
ई-जीवन प्रमाण पत्र देश के किसी भी सीएससी केन्द्र, जीवन प्रमाण पत्र केन्द्र तथा बैंक से भर सकते है।
ई-जीवन प्रमाण पत्र स्वयं घर बैठे भी भरा जा सकता है।
ई-जीवन प्रमाण पत्र कम्प्यूटर/टेबलेट/मोबाइल एप के माध्यम से भी भरा जा सकता है।
ई-जीवन प्रमाण पत्र जारी/स्वीकृत होने पर पेंशनर के पंजीकृत मोाबइल नंबर एवं ई-मेल पर सूचना उपलब्ध हो जायेंगी।
ई-जीवन प्रमाण पत्र हेतु किसी भी प्रकार के प्रपत्र जमा करने की आवश्यकता नहीं है।
ई-जीवन प्रमाण पत्र किसी भी दिन/समय भरा जा सकता है।
ई-जीवन प्रमाण पत्र आवश्यकतानुसर कभी भी देखी एवं प्रिन्ट लिया जा सकता है।

Related News

हल्द्वानी- HPMI संस्था के खेती के फार्मूले से किसान होंगे माला माल, ऐसे बन रही है रणनीति

हल्द्वानी - हाइड्रोपोनिक्स सिस्टम आधारित वर्टिकल फार्मिंग के अंतर्गत एच पी एम आई संस्था द्वारा प्रति वर्ग मीटर अधिक उत्पादन के लिए एक पायलट...

त्रिवेन्द्र सरकार की मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, ऐसे शुरू करें मसाला उद्योग

प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए राज्य सरकार लगातार रोजगार मुहैया कराने में जुटी है। इन युवाओं को रोजगार से जोडऩे के लिए त्रिवेन्द्र...

त्रिवेन्द्र सरकार की मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, ऐसे शुरू करें ऊनी हथकरघा उद्योग

प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए राज्य सरकार लगातार रोजगार मुहैया कराने में जुटी है। इन युवाओं को रोजगार से जोडऩे के लिए त्रिवेन्द्र...

त्रिवेन्द्र सरकार की मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, शुरू करें फोटोग्राफी/वीडियोग्राफी योजना

प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए राज्य सरकार लगातार रोजगार मुहैया कराने में जुटी है। इन युवाओं को रोजगार से जोडऩे के लिए त्रिवेन्द्र...

यौन एवं प्रजनन स्वास्थ्य के बेहतर परिणामों के लिए सक्रिय माहौल और कार्यक्रमों का सुदृढ़ीकरण करना होगा

बरेली।  एक नए अध्ययन में कहा गया है कि उचित सामाजिक वातावरण तथा सूचनाओं व सेवाओं संबंधी क्रियाओं को मजबूत करने से यौन एवं...

त्रिवेन्द्र सरकार की मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, शुरू करें मिनी बेकरी उद्योग

प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए राज्य सरकार लगातार रोजगार मुहैया कराने में जुटी है। इन युवाओं को रोजगार से जोडऩे के लिए त्रिवेन्द्र...