हल्द्वानी-दोबारा प्रशिक्षण में भी नहीं जागे अधिकारी फिर हुए गायब, अब जिला निर्वाचन अधिकारी ने ऐसे की कार्यवाही

0
111

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क-18 नवम्बर को होने वाले मतदान को त्रुटिहीन तरीके से संपन्न कराने के लिए लगाए गए कर्मियों का प्रशिक्षण का दौर जारी है। निर्धारित समय सारिणी के अनुसार 794 पीठासीन अधिकारियों तथा मतदान सहायकों को आज सरगम सिनेमा हॉल में दोबारा प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण में छह कार्मिक सहायक अध्यापक मनोज कुमार भंडारी, प्रवक्ता कृतिका गोस्वामी, उद्यान परिचारक ललित मोहन, अर्थ एवं सांख्याधिकारी कार्यालय के प्रशासनिक अधिकारी धीरेन्द्र प्रताप शाह कुमाऊं विश्वविद्यालय के अनुसेवक मनीष कुमार , सिंचाई विभाग के अनुसेवक किशोर कुमार प्रशिक्षण से अनुपस्थित रहें। जिला निर्वाचन अधिकारी विनोद कुमार सुमन ने अनुपस्थित कार्मिकों को कारण बताओं नोटिस जारी करते हुए 16 नवम्बर को आयोजित होने वाली प्रशिक्षण कार्यशाला में उपस्थित होने के निर्देश दिए।

कार्य में किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं

अपर निदेशक प्रशिक्षण प्रकाश चन्द्र ने कहा कि निर्वाचन कार्य में किसी भी लापरवाही की कोई भी गुंजाईश न होने और इस कार्य को पूरी पारदर्शिता, निष्पक्षता, स्वतंत्रता एवं समयबद्ध तरीके से संपन्न कराने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशन में कार्मिकों को बार-बार प्रशिक्षण दिया जा रहा है। कहा कि सभी कार्मिक अपने कार्यों एवं दायित्वों में पूर्ण पारंगतता व दक्षता हासिल करें ताकि मतदान प्रक्रिया के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो सकें। सभी कार्मिकों को पूरी निपष्पक्षता, पारदर्शिता एवं स्वतन्त्रता से आयोग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों एवं नियमानुसार कार्यवाही करने को कहा। उन्होंने कहा कि निर्वाचन कार्य मे इस प्रकार की उदासीनता व लापरवाही ना करें अन्यथा आयोग के निर्देशानुसार कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होंने सभी कार्मिकों को पूरी विनम्रता एवं शालीनता से कार्य करने के लिए प्रेरित किया।

कुमाऊं विवि के रजिस्ट्रार ने दिया प्रशिक्षण

डाटा प्रोजेक्टर के माध्यम से सिनेमा के बड़े पर्दे पर कुमाऊं विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डा. महेश कुमार तथा परियोजना निदेशक बालकृण द्वारा प्रशिक्षण दिया गया और निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने के अलावा मतपेटी तैयार करने, बैलेट पेपर मोडऩे, शुभनक चिन्ह के प्रयोग के अलावा मतपेटियों के खोलने एवं बन्द करने तथा मत पेटियों को सील करने, टेंडर वोट, चैलेंजिंग वोट, मतदान शुरू करने व समाप्ति की घोषणा, मतदान स्थगन की विभिन्न परिस्थितियां, मतपत्र लेखा तैयार करने के बारे में विस्तार से सैद्वान्तिक एवं व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया गया। सभी पीठासीन एवं मतदान अधिकारियों से कहा कि वह मतदान का कार्य पूरी निष्ठा, तत्परता एवं निष्पक्षता के साथ संपन्न करायें।

पांच बजे बाद लाइन में नहीं लगेंगे मतदाता

मतदान के दौरान सभी कर्मी आयोग के दिशा निर्देशों का भली-भांति अध्ययन कर उसका अनुपालन करें। उन्होंने कहा कि मतदान का जो समय निर्धारित है। उसी समय सीमा मे मतदान प्रक्रिया संपन्न होनी है। सायं पांच बजे के बाद कोई भी मतदाता लाइन में नहीं लगेगा और पांच बजे अन्तिम मतदाता को पर्ची दे दी जाए, यदि निर्धारित समय के बाद लाइन में काफी मतदाता हैं जो कि पहले से लाइन में लगेे है ऐसे सभी मतदाताओं का मताधिकार प्रयोग करने का अवसर दिया जायेगा। लिहाजा पांच बजे तक लाइन में लगे मतदाताओं की गिनती कर उन्हें टोकन दे दिया जाए। मतदान संपन्न होने के बाद सभी सैक्टर एवं जोनल मजिस्टे्रट पीठासीन अधिकारियों के साथ सील की गई मतपेटियों को सुरक्षा के साथ बनाये गये स्ट्रांग रूप में रखा जाना सुनिश्चित करेंगे। मतदान अवधि के दौरान सभी अधिकारी सम्बन्धित रिटर्निग आफिसर के संपर्क में रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here