नई दिल्‍ली-सच्चे मुसलमान को संघ से कोई खतरा नहीं-भागवत, अंग्रेजी स्कूलों में प्रार्थना हिन्दी में हो

Slider

नई दिल्‍ली-न्यूज टुडे नेटवर्क- आज राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ मोहन भागवत ने स्‍कूलों को लेकर एक बड़ा बयान दिया। देहरादून में उन्‍होंने कहा कि अंग्रेजी स्‍कूलों में भी प्रार्थना हिंदी में होनी चाहिए। स्‍कूलों के प्रधानाचार्यों से मुलाकात के दौरान यह भी कहा कि शिक्षा में बदलाव की आवश्यकता है। अब शिक्षा व्यवसाय बन गया है। इसके बाद भागवत ने कहा कि भारत में रहने वालों को हिन्दू कहते हैं। कांग्रेस, सपा और मुस्लिम लीग को भी आरएसएस सहायता करता है। वही सच्चे मुसलमान को संघ से कोई खतरा नहीं। उन्‍होंने कहा कि अंग्रेजी स्कूलों में प्रार्थना हिंदी में होनी चाहिए। जनसंख्या बैलेंस रहनी चाहिए। संघ की शाखा लगाने वालों को संघ प्रमुख भागवत ने नसीहत देते हुए कहा कि राम मंदिर के लिए पूजा-अर्चना करें। मंदिर निर्माण के लिए राम नाम का जाप करें।


भगवान राम और गो माता हिंदू संस्‍कृति का आधार

भागवत ने अपने क्षेत्रों में सर्वे करने के निर्देश दिए कहा कि किस क्षेत्र में कौन-कौन ऐसे लोग रहते हैं, जो कभी भी संघ की शाखा में देश के किसी भी हिस्से में गए। ये सर्वे 9 मई तक करने के निर्देश दिए गए। भगवान राम और गो माता हिंदू संस्‍कृति का आधार हैं। इसके साथ ही कहा कि हर भारतीय को यह समझना चाहिए कि अयोध्‍या में राम मंदिर का निर्माण मूल स्‍थान पर ही होना चाहिए। हम राम के प्रति श्रद्धा रखते हैं। गो माता और राम हिंदू संस्‍कृति का आधार है। हर भारतीय को यह समझना चाहिए कि अयोध्‍या में राम मंदिर का निर्माण मूल स्‍थान पर ही होगा। यदि ऐसा होता है तो हिंदुत्‍व की पहचान पूरे विश्‍व में स्‍थापित हो जाएगी।

Slider
उत्तराखंड की बड़ी खबरें