नई दिल्ली-पंत की तूफानी पारी के आगे उड़ा हैदराबाद, लेकिन जीत के बाद ऐसे दिखे नाखुश

10

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क- बुधवार रात आइपीएल के सनराइजर्स हैदराबाद ने आईपीएल एलिमिनेटर में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ आठ विकेट पर 162 रन बनाए। जवाब में दिल्ली कैपिटल्स ने 19.5 ओवर में 8 विकेट पर 165 रन बनाकर मैच 2 विकेट से जीत लिया। दिल्ली पहली बार आईपीएल के नॉकआउट मुकाबले में जीती है। इस जीत के साथ ही वह क्वालिफायर-2 में पहुंच गई है। अब 10 मई को दिल्ली कैपिटल्स का मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स के साथ होगा। ऋषभ पंत ने मैच दिल्ली की ओर मोड़ ही दिया था उसके बाद उनके आउट होने पर मैच एक बार फिर रोमांचक हो गया। लेकिन आउट होने से पहले ऋषभ टीम का काम इतना आसान कर गए थे कि अंतत: जीत दिल्ली को ही मिल गई। पंत ने 18वें ओवर में ताबतोड़ बल्लेबाजी कर मैच का रुख मोड़ दिया।

21 गेंदों में ठोंके 49 रन

पंत ने अपने हाथ खोले और 17 ओवर तक पहले स्कोर 129 रन किया और उसके बाद बासिल थम्पी के ओवर में दो चौके और दो छक्के लगाते हुए 21 रन ठोक कर टीम को मैच में वापस ला दिया। ऋषभ पंत 19वें ओवर की पांचवी गेदं पर भुवनेश्वर कुमार को छक्का लगाने के चक्कर में आउट हो गए और 21 गेंदों में 49 रन बनाकर पवेलियन लौटे तब दिल्ली को आखिरी 7 गेदों में केवल पांच रनों की जरूरत थी। पंत ने अपनी पारी में दो चौके और पांच छक्के लगाए। आखिरी ओवर में एक-एक रन बनाना मुश्किल हो रहा थ, तभी अमित मिश्रा विवादों के साथ असामान्य तरीके से आउट हो गए लेकिन अंतिम गेंद पर कीमो पॉल ने चौका लगाकर दिल्ली को राहत देते हुए पंत की मेहनत को सफल बना दिया।

अगली बस फिनिंश करके आऊंगा-पंत

मैच के बाद पंत ने बताया कि वो खुद से कुछ निराश हैं। पंत ने कहा कि अगर आप विकेट पर सेट होते हैं, तो आपको अपनी टीम के लिए मैच खत्म करना चाहिए। अगली बार मैं ऐसा करने की कोशिश करूंगा। इस मैच में मैं इसके बहुत करीब पहुंच गया था। मैं इस मैच में बस सकारात्मक होकर खेलने की कोशिश कर रहा था। टी-20 क्रिकेट में बस आपको एक बड़े ओवर की जरूरत होती है। हम रोज उन्हीं गेंदबाजों के साथ प्रैक्टिस करते हैं। हम गेंद पर ध्यान देते हैं, गेंदबाज पर नहीं। पंत ने कहा कि इस मैच में मैंने हार्ड हिटिंग पर नहीं बल्कि टाइमिंग पर ज्यादा ध्यान दिया।