iimt haldwani

नई दिल्ली- डीजीटल हो जाएगी टीचर्स की ट्रेनिंग, IAS बनने से ज्यादा मुश्किल होगी टीचर बनने की राह बोले निशंक

528

देश में एजुकेशन सिस्टम को और भी बेहतर बनाने के लिए सरकार अनोखा प्रयास करने जा रही है। सरकार के इस फैसले के बाद वॉट्सऐप और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया और मैसेजिंग प्लेटफॉर्म्स के टीचर्स को ट्रेनिंग देगी। इसको सफल बनाने के लिए सरकार ने एक प्लान जारी करते हुए कहा कि सरकार एक स्पेशल ट्रेनिंग प्रोग्राम चलाएगी जिसके तहत प्रिंसिपल और टीचर्स को ट्रेनिंग देने में वॉट्सऐप और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का भी सहारा लेगी। इस योजना के तहत पहले चरण में 42 लाख टीचर्स को ट्रेनिंग दिए जाने की योजना है।

drishti haldwani

Ramesh pokhriyal nishank/

टीचर्स कैसे होंगे ट्रेन

क्लास रूम में टीचर्स को ट्रेनिंग देने के बाद एक वॉट्सऐप ग्रुप और फेसबुक पेज बनाया जाएगा जिसके ज़रिए टीचर्स एक-दूसरे से जुड़े रहेंगे। मानव संसाधन विकास मंत्री ने रमेश पोखरियाल ने कहा कि इस ग्रुप में या पेज के माध्यम से टीचर्स अपने सामने आने वाली चुनौतियों को शेयर कर सकेंगे जिससे उनका हल ढूंढने में मदद मिलेगी। दिल्ली में बुधवार को मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने नेशनल इंसिएटिव ऑन स्कूल टीचर हेड हॉलीस्टिक एडवांसमेंट (निष्ठा) का शुभारंभ किया।

facebook and whatsapp digital education system

इस मौके पर उन्होंने कहा कि शिक्षक बनने की पढ़ाई के पाठ्यक्रम में भी बदलाव किया जा रहा है। अब ऐसे ही कोई भी शिक्षक नहीं बन पाएगा। निशंक ने कहा, ‘ट्रेनिंग में पॉक्सो एक्ट और दिव्यांगजनों को पढ़ाने से संबंधित दिशा-निर्देश भी दिए जाएंगे। केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि अब आईएएस बनना आसान होगा पर शिक्षक नहीं। शिक्षक एक छात्र का नहीं पूरे देश को बनाने वाला होता है।