iimt haldwani

नई दिल्ली-मन की बात में पीएम मोदी ने बोल दी ये बातें, सुन रहा था पूरा देश

113

नई दिल्ली-आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकतंत्र को देश के संस्कार, संस्कृति और विरासत का हिस्सा बताया और आपातकाल का जिक्र करते हुए लोकतंत्र की रक्षा के लिए अपनी प्रतिबद्धता जतायी। मोदी ने अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल में आकाशवाणी पर प्रसारित पहले मन की बात कार्यक्रम में अपने संबोधन में जल संरक्षण के महत्व और अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को भी रेखांकित किया।

drishti haldwani

प्रधानमंत्री मोदी ने जल संकट से लेकर आपातकाल और योग दिवस जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर विचार व्यक्त किया। उन्होंने चुनाव के कारण मन की बात कार्यक्रम को संबोधित न कर पाने के लिए खेद भी व्यक्त किया।

Man-ki-bat PM Modi

मुझे विश्वास था आप मुझे वापस जरूर लाओंगे-मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि एक लंबे अंतराल के बाद आपके बीच मन की बात लेकर आया हूं। जन-जन की बात, जन-मन की बात इसका हम सिलसिला जारी कर रहे हैं। चुनाव की आपाधापी में व्यस्तता तो ज्यादा थी लेकिन मन की बात का मजा ही गायब था, एक कमी महसूस कर रहा था। उन्होंने कहा कि उन्हें भारत के लोगों पर हमेशा से विश्वास था कि वे उन्हें एक बार फिर वापस लाएंगे। आपातकाल, इसके परिणामों, लोगों के सुझाव जो हमेशा उनके समाधान के साथ उन्हें हैरान करते हैं, इन सब पर बोलने के साथ ही मोदी ने देश के विशाल हिस्सों में बड़े पैमाने पर सूखे से निपटने के लिए जल संरक्षण पर जोर दिया।