iimt haldwani

नई दिल्ली-खत्म हुआ मुख्यमंत्री का सस्पेंस, इन्हें मिला छत्तीसगढ़ के सीएम का ताज

111

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क-आखिरकर कांग्रेस पार्टी ने भूपेश बघेल को छत्तीसगढ़ की कमान सौंपी है। रायपुर में प्रदेश कांग्रेस कार्यालय मुख्यालय में कांग्रेस पार्टी के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, पर्यवेक्षक बनाए गए मल्लिकार्जुन खडग़े ने भूपेश बघेल ने नाम का औपचारिक एलान करेंगे। कांग्रेस विधायक दल ने भूपेश बघेल को सदन का नेता चुना है। कांग्रेस प्रदेश कमेटी के प्रमुख भूपेश बघेल का नाम है। वह पाटन सीट से चुनाव जीते हैं। राज्‍य में राजनीति के केंद्र बिंदुओं में से एक पाटन विधानसभा क्षेत्र में इस बार उनके सामने भाजपा ने मोती लाल साहू के रूप में एक नए चेहरे को चुनावी अखाड़े में उतारा था। अपने तेवरों से राजनीति में महत्वपूर्ण स्थान बनाने वाले राजनेताओं में शुमार बघेल का नाता विवादों से भी कम नहीं रहा है।

amarpali haldwani

ढाई-ढाई साल के फॉमूले पर साधी चुप्पी

खबर है कि मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार दो नेताओं को संतुष्ट करने के लिए ढाई-ढाई साल के मुख्यमंत्री पर फैसला हुआ है। वही हाईकमान ने इसमें लोकसभा चुनाव को देखते हुए एक नाम जातिगत समीकरण और दूसरा नाम घोषणापत्र के वादों को पूरा करने के हिसाब से तय किया है। रविवार को पार्टी के प्रदेश मुख्यालय राजीव भवन में पहले टर्म वाले नेता के नाम की ही घोषणा होगी।अभी सार्वजनिक नहीं किया जाएगा कि ढाई साल बाद कांग्रेस सरकार का मुख्यमंत्री बदल सकता है। यह हाईकमान और दावेदारों के बीच की बात है। पत्रकारों से बातचीत के दौरान भूपेश बघेल ने ढाई ढाई साल के मुख्यमंत्री के कार्यकाल के फॉर्मूले को लेकर कोई प्रतिक्रिया जाहिर नहीं की। इस बारे मे पूछे गए तमाम सवालों को टालते हुए उन्होंने कहा कि विधायक दल की बैठक में ही सब कुछ तय होगा