iimt haldwani

नई दिल्ली-रोहित शेखर हत्याकांड में एक और अहम खुलासा, जानिये कौन है छह करोड़ का मालिक

78

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क-उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की हत्या के बाद कई पर्दे उठ रहे है। फिलहाल रोहित हत्याकांड में अपूर्वा सलाखों के पीछे है। लेकिन हर दिन कोई न कोई नई चीज सामने आ रही है। अब पुलिस जांच में यह बात सामने आया है कि रोहित उनकी मां उज्जवला और भाई सिद्धार्थ तीनों के नाम से कुल छह करोड़ रुपये की फिक्सड डिपाजिट (एफडी) है। इसके अलावा उज्जवला के नाम देहरादून में फार्म हाउस भी है। उज्जवला ने पूछताछ में बताया था कि बहुत पहले गांव की जमीन को बेचकर फार्म हाउस खरीदा गया था। उज्जवला ने ये भी बताया था कि उसने अपनी वसीयत में फाार्म हाउस रोहित और सिद्धार्थ के नाम कर दिया है। हालांकि अभी तक वसीयत पुलिस को नहीं मिली है। पुलिस रोहित हत्या मामले की जांच प्रॉपर्टी के एंगल से भी कर रही है।

amarpali haldwani

1979 से मकान में नहीं हुई रंगाई-पुताई

रोहित हत्याकांड की पूरे देश भर में चर्चा रहीे। पत्नी अपूर्वा ने रोहित का किसी अन्य महिला के साथ रिलेशन की बात कही लेकिन मां उज्जवला ने ऐसे रिश्ते से इनकार किया। जांच में ये यह बात भी सामने आई कि रोहित व अपूर्वा जिस सी-329 डिफेंस कॉलोनी में रहते थे उसमें वर्ष 1979 से रंगाई-पुताई नहीं हुई है। वर्ष 1978 में पेशे से वकील रहीं उज्जवला ने कोठी खरीदी थी। मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कोठी के अंदर की दीवारों की हालत बहुत खराब हो गई है। शादी से पहले दोनों लिव-इन रिलेशन में भी रहते थे लेकिन कुछ दिन साथ में रहने के बाद दोनों के रिश्तों में कड़वाहट आ गई। इसके बाद दोनों ने शादी से भी इनकार कर दिया। इस बीच अचानक मार्च 2018 में रोहित ने अपनी मां उज्जवला से कहा कि वह अपूर्वा से शादी करना चाहता है। दोनों इसके लिए राजी भी हैं। दोनों की मर्जी से 31 मार्च, 2018 को दोनों की दिल्ली में सगाई हो गई। लेकिन अब रोहित हत्याकांड ने पूरे देश को चौकाकर रख दिया।