drishti haldwani

नई दिल्ली-रोहित शेखर हत्याकांड में अब तक का सबसे बड़ा सच आया सामने, उज्जवला ने खोले अपूर्वा बेहद अहम राज

846

नई दिल्ली-उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी के हत्याकांड में मुख्य आरोपी रही उनकी पत्नी अपूर्वा इन दिनों सलाखों के पीछे है। इनता सबकुछ होने के बाद अब कई बातें सामने आयी है।

iimt haldwani

बताया जा रहा है कि रोहित की हत्या के बाद अपूर्वा रोहित की मां से उसके पक्ष में बात करने का दबाव बना रही थी।
बीते दिवस एक बातचीत में उज्जवला ने कहा कि हरिद्वार में अस्थि विसर्जन के दौरान अपूर्वा ने मीडिया से दूरी बनानी चाही। वह मेरे से बोली अम्मा ये सब झूठ बोल रहे है आप मेरा ही साथ देना।

rohit sekhar murder case/newstodaynetwork

अपूर्वा ने मेरा विश्वास तोड़ा-उज्जवला

मैंने यह कभी नहीं सोचा था कि वही अपनी पति की हत्या करेंगी। इसलिए उसे बेकसूर मानकर उसकी बातों पर विश्वास किया। तब मैंने मीडिया से कहा था अपूर्वा निर्दोष है वह कभी ऐसा नहीं कर सकती। उसने मेरा विश्वास तोड़ दिया। गौरतलब है कि रोहित शेखर की हत्या के मामले में उसकी पत्नी अपूर्वा शुक्ला के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल कर दिया। रोहित की की रात गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। 24 अप्रैल को पुलिस ने अपूर्वा को गिरफ्तार किया था। पुलिस का आरोप है कि इस हत्याकांड को अपूर्वा ने ही अंजाम दिया था।

apurva shukla/newstodaynetwork

हत्याकांड 56 बने गवाह

518 पन्ने के आरोप पत्र में पुलिस ने रोहित के परिवार के ही अधिकतर सदस्यों व उनके यहां काम करने वाले कर्मचारी समेत 56 लोगों को गवाह बनाया है। सुबूत के तौर पर सभी के बयान, फॉरेंसिक व इलेक्ट्रानिक साक्ष्य, मोबाइल कॉल डिटेल रिकार्ड व फोटोग्राफ को रखा गया है। आज को कोर्ट आरोप पत्र पर संज्ञान लेगी। रोहित की हत्या की कोई एक वजह नहीं थी, बल्कि इसके पीछे कम से चार वजहें थी, जिनका जिक्र चार्जशीट में भी है।

apurva/Rohitshekhar mudrer

रोहित से शादी के कई सपने संंजोये थे अपूर्वा ने

मूल रूप से इंदौर की रहने वाली अपूर्वा शुक्ला पेशे से अधिवक्ता है। उसके पिता व परिवार के अन्य सदस्य भी वकील हैं जिससे उसे कानून के हर दाव पेंच के बारे में जानकारी थी। अपूर्वा 2016 से सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस करती थी। लिहाजा पहले कई दिनों तक पूछताछ में वह क्राइम ब्रांच को गुमराह करती रही। लेकिन परिस्थितजन्य साक्ष्यों व फॉरेंसिक रिपोर्ट के आधार पर लगातार पूछताछ पर उसने 24 अप्रैल को हत्या करने की बात कुबूल ली थी। जांच में यह बात सामने आई थी कि बड़े परिवार से ताल्लुक रखने वाली अपूर्वा ने रोहित शेखर तिवारी से शादी करने के पीछे बड़े-बड़े सपने संजो रखे थे।