inspace haldwani
inspace haldwani
Home देश नई दिल्ली- सेना के राजनीतिकरण को लेकर राष्ट्रपति को लिखे पत्र पर...

नई दिल्ली- सेना के राजनीतिकरण को लेकर राष्ट्रपति को लिखे पत्र पर विवाद गहराया, जानिये क्या है हकीकत

उत्तराखंड- केंद्रीय शिक्षा मंत्री इस दिन देंगे छात्रों के सभी सवालों का जवाब, लाइव जुड़ने के लिए अपनायें ये तरीका

कोविड-19 खत्म होने का नाम नहीं ले रहा ऐसे में देश में छात्रों की चिंताएं बढ़ती जा रही हैं। ऑनलाइन पढ़ाई के बीच छात्रों...

राजस्थान: कर्ज चुकाने को रिश्तेदार के बेटे का ही कर लिया अपहरण, फिर मांगी 55 लाख की फिरौती, देखें यह खबर…

न्यूज टुडे नेटवर्क। पुलिस ने अपहरण के मामले में 55 लाख रूपए फिरौती मांगने का खुलासा करते हुए बदमाशों को गिरफ़तार कर लिया। अपहरणकर्ता...

किसान आंदोलन: यूपी के किसानों ने भी किया दिल्ली का रूख, भाकियू नेता राकेश टिकैत कर रहे हैं अगुवाई

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। दिल्‍ली के किसान आंदोलन में भाग लेने के लिए यूपी के किसान भी दिल्‍ली कूच कर गए हैं। शनिवार व शुक्रवार...

कोरोना वैक्सीन प्लांट के दौरे के लिए अहमदाबाद पहुंचे पीएम मोदी, दो शहरों का और करेंगे दौरा, देखें यह खबर…

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कोरोना वैक्‍सीन प्‍लांट का निरीक्षण और टीका विकसित करने के कार्यों की समीक्षा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी अहमदाबाद पहुंच...

जानिए, कंगना रनौत के पक्ष में फैसला सुनाकर बाम्बे हाईकोर्ट ने बीएमसी को क्या दिए निर्देश, देखें यह खबर…

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना के पक्ष में फैसला सुनाते हुए बीएमसी को मुआवजा देने का  आदेश दिया है। शुक्रवार को बॉम्बे...

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क-150 से अधिक पूर्व सैन्य अधिकारियों द्वारा मोदी सरकार के सेना के राजनीतिकरण को लेकर राष्ट्रपति को लिखे गए पत्र पर विवाद गहरा गया है। सूत्रों के अनुसार राष्ट्रपति कार्यालय को अभी तक ऐसा कोई पत्र नहीं मिला है। हालांकि कहा जा रहा है कि लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के दिन गुरुवार ही पत्र राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भेजा गया था। सूत्रों की माने तो अभी तक ऐसा कोई पत्र नहीं मिला है। दूसरी तरफ पूर्व वायुसेना प्रमुख एयर चीफ एनसी सूरी ने कहा कि उन्होंने कोई चि_ी नहीं लिखी है और न ही उनसे कोई सहमति ली गई है। उनके अनुसार सेना किसी राजनीतिक दल से नहीं जुड़़ी है और न ही सरकार के निर्देश पर काम करती है।


वही दूसरी ओर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी सूरी की बात को उठाया और कहा कि इस तरह की हरकत निंदनीय है। हालांकि जब उनसे पूछा गया कि कुछ पूर्व अधिकारियों ने पत्र लिखने की बात स्वीकारी है तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। पूर्व सैन्य अधिकारियों द्वारा राष्ट्रपति को पत्र लिखे जाने का मामला सामने आने के बाद कांग्रेस भी केंद्र सरकार पर हमलावर है। कांग्रेस की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब पूर्व सैनिकों को सामने आना पड़ा है।

Related News

उत्तराखंड- केंद्रीय शिक्षा मंत्री इस दिन देंगे छात्रों के सभी सवालों का जवाब, लाइव जुड़ने के लिए अपनायें ये तरीका

कोविड-19 खत्म होने का नाम नहीं ले रहा ऐसे में देश में छात्रों की चिंताएं बढ़ती जा रही हैं। ऑनलाइन पढ़ाई के बीच छात्रों...

राजस्थान: कर्ज चुकाने को रिश्तेदार के बेटे का ही कर लिया अपहरण, फिर मांगी 55 लाख की फिरौती, देखें यह खबर…

न्यूज टुडे नेटवर्क। पुलिस ने अपहरण के मामले में 55 लाख रूपए फिरौती मांगने का खुलासा करते हुए बदमाशों को गिरफ़तार कर लिया। अपहरणकर्ता...

किसान आंदोलन: यूपी के किसानों ने भी किया दिल्ली का रूख, भाकियू नेता राकेश टिकैत कर रहे हैं अगुवाई

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। दिल्‍ली के किसान आंदोलन में भाग लेने के लिए यूपी के किसान भी दिल्‍ली कूच कर गए हैं। शनिवार व शुक्रवार...

कोरोना वैक्सीन प्लांट के दौरे के लिए अहमदाबाद पहुंचे पीएम मोदी, दो शहरों का और करेंगे दौरा, देखें यह खबर…

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कोरोना वैक्‍सीन प्‍लांट का निरीक्षण और टीका विकसित करने के कार्यों की समीक्षा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी अहमदाबाद पहुंच...

जानिए, कंगना रनौत के पक्ष में फैसला सुनाकर बाम्बे हाईकोर्ट ने बीएमसी को क्या दिए निर्देश, देखें यह खबर…

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना के पक्ष में फैसला सुनाते हुए बीएमसी को मुआवजा देने का  आदेश दिया है। शुक्रवार को बॉम्बे...

किसान आंदोलन: नौ स्टेडियमों में अस्थायी जेल बनाने की सरकार से मांगी इजाजत, सड़कों पर यातायात ठप

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। दिल्‍ली आ रहे किसानों को रोकना अब पुलिस के लिए भी सिरदर्द बनता जा रहा है। आज शुक्रवार को किसान आंदोलन...