drishti haldwani

नई दिल्ली-नजारा देख लोगों के खड़े हो गये रोंगटें, जब मेट्रो के गेट में साड़ी फंसने के बाद महिला को घसीटते ले गई मेट्रो

94

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क-दिल्ली में चलते वाली मेट्रों ट्रेने आने-जाने के लिए एक बेहतर विकल्प है। लेकिन कभी यही आपकी जान आफत में डाल सकती है। ऐसा ही वाक्या आज दिल्ली मेट्रो में देखने को मिला। दिल्ली के मोतीनगर पर हुए हादसे ने इसकी पोल खोल दी है। यहां मोती नगर मेट्रो स्टेशन पर ट्रेन से उतरने के दौरान एक महिला की साड़ी गेट में फंस गई। इसके बाद ट्रेन का गेट बंद हो गया और ट्रेन चल पड़ी। इसके बाद महिला काफी दूर तक घिसटती रही। इस दौरान लोगों ने चिल्लाकर ट्रेन ऑपरेटर को ट्रेन रोकने के लिए मजबूर किया तब इस महिला की जान बची। महिला को चोट आई है और उसे नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत ठीक है। जबकि डीएमआरसी का दावा करती है कि अगर कोई चीज गेट पर हो तो वह बंद नहीं होता और फिर ट्रेन के चलने का तो कोई सवाल ही नहीं है। मेट्रो के इस दांवे की हवा आज निकल गई। इससे पहले भी मेट्रो गेट खुला रहने पर चर्चाओं में आ चुका है।

iimt haldwani

घसीटती हुई महिला को ले गई मेट्रों

बताया जा रहा है कि आज सुबह 9.20 पर मोती नगर मेट्रो स्टेशन पर वैशाली की ओर जाने वाली मेट्रो रुकी। इस दौरान ट्रेन से उतरने समय गीता नाम की एक महिला की साड़ी का एक हिस्सा अटक गया, गीता ट्रेन के बाहर यानी प्लेटफॉर्म पर थी। महिला ने साड़ी का हिस्सा गेट से निकालने की कोशिश की लेकिन तब तक गेट बंद होग गया और ट्रेन चल पड़ी। गीता कुछ समझ पाती इससे पहले ही प्लेटफॉर्म पर गिर पड़ी और ट्रेन के साथ घिसटने लगी। ट्रेन ने गीता को काफी दूर तक प्लेटफॉर्म पर घसीटते हुए चिल्लाती रही। यात्रियों ने महिला के चीखने की आवाज सुनी तो टे्रन रोकने के लिए शोर मचाया। शोर सुनकर ट्रेन ऑपरेटर ने तुरंत सतर्कता दिखाई और कुछ दूरी पर ट्रेन रोक दी। महिला को काफी चोट भी आई है। इस हादसे के चलते ब्लू लाइन पर मेट्रो का परिचालन तकरीबन 20 मिनट तक प्रभावित रहा।