iimt haldwani

नई दिल्ली-पाकिस्तान पर विश्वकप में सातवीं सर्जिकल स्ट्राइक को तैयार भारत, थोड़ी देर में होगा हाई वोल्टेज मैच

92

नई दिल्ली-मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान 12वें विश्व कप का सबसे बड़ा मुकाबला भारत व पाकिस्तान के बीच कुछ ही देर में खेला जाएगा। फिलहाल अभी आसमान पर बादल छाए हुए हैं लेकिन बारिश नहीं हो रही है। विराट की अगुआई वाली टीम इंडिया अपनी जीत की उस लय को कायम रख पाएगी। भारतीय टीम ने पाकिस्तान को इससे पहले विश्व कप के सभी यानी छह मैचों में हराया है और सातवीं बार विराट की सेना पाकिस्तान को रौंदने के लिए तैयार है। वही 20 वर्ष के बाद एक बार फिर से मैनचेस्टर में भारत व पाकिस्तान विश्व कप का मुकाबला रविवार को खेलने उतरेंगे। इस मैदान पर भारत ने पाकिस्तान को पहले 47 रन से हराया था। भारत और पाकिस्तान के बीच विश्व कप,वनडे/टी-20 में अब तक 11 मैच हुए है। पाकिस्तान इनमें से एक भी मैच नहीं जीत सका है। अगर बात वनडे विश्व कप 2019 की हो तो यहां पर भारत और पाकिस्तान का रिकॉर्ड 6-0 का है। भारतीय टीम 1992 से अब तक छह वल्र्ड कप में पाकिस्तान को हरा चुकी है। 1992 से पहले विश्व कप में भारत-पाकिस्तान का मुकाबला नहीं हुआ था।

drishti haldwani

अकेले सचिन से हार गया पाकिस्तान

भारत और पाकिस्तान के बीच विश्व कप का पहला मुकाबला 1992 में खेला गया जिसमें सचिन तेंदुलकर 54, अजय जडेजा 46 और कपिल देव 35 की मदद से सात विकेट पर 216 रन बनाए। जवाब में पाकिस्तान को 173 रन पर समेट दिया। सचिन ने एक विकेट लिया उनके ऑलराउंडर खेल के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। इसे बाद 1996 के विश्व कप में भी मुकाबला क्वार्टर फाइनल का था। जिसमें भारत के नवजोत सिंह सिद्धू 93 और अजय जडेजा 45 की मदद से 287 रन बनाए। जवाब में पाकिस्तान 9 विकेट पर 248 रन ही बना सका। भारत ने यह मैच 39 रन से जीता। वर्ष1999 के विश्व कप अजहरुदृीन की कप्तानी में पाकिस्तान के खिलाफ भारत ने छह विकेट पर 227 रन बनाए। राहुल द्रविड़ ने 62, अजहर ने 59 और सचिन तेंदुलकर ने 45 रन बनाए। गेदबाजों ने पाकिस्तान का पस्त कर दिया। वेंकटेश प्रसाद ने 9.3 ओवर में पांच विकेट झटके जबक् िजवागल श्रीनाथ ने तीन और अनिल कुंबले ने दो विकेट लिए और पाकिस्तान 180 पर ढेर हो गया। भारत 47 रन से जीता।

india

हर विश्वकप रहा सचिन का जलवा

साल 2003 के विश्व कप में पाकिस्तान ने भारत को 274 रन का लक्ष्य दिया। जवाब में शोएब अख्तर के पहले ही ओवर में सचिन ने छक्का जड़ दिया। सचिन ने 75 गेंदों पर 98 रन बनाए और भारत ने यह मैच 46वें ओवर में ही छह विकेट से जीत लिया। सचिन तेंदुलकर मैन ऑफ द मैच चुने गए।साल 2011 में भारत-पाक का मुकाबला सेमीफाइनल में हुआ। इस मैच को देखने के लिए पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी भी पहुंचे। लेकिन उनकी टीम ने फिर निराश किया।ं सचिन तेंदुलकर की 85 रन की पारी की बदौलत भारत ने 260 रन बनाए लेकिन पाकिस्तानी टीम 231 रन पर आउट हो गई। एक बार फिर सचिन तेंदुलकर मैन ऑफ द मैच चुने गए। इसके बाद हुए साल 2015 में भी पाकिस्तान की टीम भारत के सामने नहीं टिक सकी। भारत ने इस मैच में सात विकेट पर 300 का स्कोर खड़ा किया। जिसमें विराट कोहली ने 107 रन, सुरेश रैना ने 74 और शिखर धवन ने 73 रन की पारियां खेलीं। इसके जवाब में पूरी पाकिस्तानी टीम 47 ओवर में 224 रन बनाकर आउट हो गई। विराट कोहली मैन ऑफ द मैच चुने गये।