PMS Group Venture haldwani

नई दिल्ली-तो इसलिए इस बार मोदी के मंत्रिमंडल से बाहर हुई मेनका गांधी, मंत्री बनने को लेकर यहां फंसा था पेंच

नई दिल्ली-आज पीएम नरेन्द्र मोदी ने अपने मंत्रिमंडल में विभागों का बंटवारा कर दिया है। दूसरी बार पीएम बने मोदी ने इस बार आठ पुराने कैबिनेट मंत्रियों की छुट्टी कर दी। इन आठों मंत्रियों को नये मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया। इन मंत्रियों में से एक नाम मेनका गांधी का भी है। गुरुवार को नरेंद्र मोदी ने लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली। पीएम मोदी के साथ कैबिनेट के उनके दूसरे सहयोगियों ने भी शपथ ली। लेकिन पिछली मोदी सरकार में आठ कैबिनेट मंत्री रहे नेताओं को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में विदेश मंत्री रहीं सुषमा को इस बार कैबिनेट में शामिल नहीं किया गया। सुषमा के अलावा सात और कैबिनेट मंत्रियों को इस बार नई सरकार में जगह नहीं दी गई। जिसमेंं अरुण जेटली, सुरेश प्रभु, मेनका गांधी, अनंत गीते, चौधरी बीरेंद्र सिंह, जुआल ओराम और राधा मोहन सिंह प्रमुख चेहरे हैं।

smriti-rahul Gandhi

स्मृति ने राहुल को हराकर जगाई उम्मीदें

गुरुवार को शपथ ग्रहण के दौरन वरिष्ठ मंत्री मेनका गांधी को मोदी मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली। तो लोग आश्चर्यचकित हुए। गांधी परिवार के दूसरे महत्वपूर्ण धड़े से जुड़ी मेनका मुख्य गांधी परिवार की काट के लिए एक समय पार्टी के लिए बेहद अहम थी। लेकिन इस बार पार्टी को स्मृति ईरानी के रूप में चेहरा मिल गया है। जिसने अमेठी में राहुल गांधी को बाहर का रास्ता दिखा दिया। कड़ी मेहनत से स्मृति ने गांधी परिवार की सबसे अहम मानी जाने वाली अमेठी सीट कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से छीन ली है। जिससे साफ होता है कि गांधी परिवार का दूसरा धड़ा उतना खास नहीं कर पाया।

Coronavirus vaccine) वैज्ञानिकों ने ढूँढ निकाला कोरोना का सबसे सस्ता इलाज, 100 रुपए में ऐसे होगा कोरोना की जाँच