iimt haldwani

नई दिल्ली-आईपीएल को मिला नया बादशाह, ऐसे आखिरी गेंद में मुंबई ने पटल दी बाजी

84

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क-आखिरकार आईपीएल को अपना चैम्पियन मिल गया। इस बार आईपीएल का बादशाह मुंबई इंडियंस रहा। रविवार देर रात खेले गये फाइनल मैच में अपनी चिर प्रतिद्वंद्वी चेन्नई सुपर किंग्स को एक रन से हराकर मुंबई इंडियंस ने आईपीएल का खिताब अपने नाम कर लिया। मैच के आखिरी ओवर में मुंबई इंडियंस में बाजी पलट कर चौथी बार आईपीएल का खिताब अपने नाम कर लिया। मुंबई और चेन्नई के बीच यह चौथा फाइनल था, जिसमें मुंबई तीन बार चैंपियन बना है। इन दोनों टीमों के बीच हमेशा पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती है और इस बार भी यह क्रम जारी रहा। आईपीएल का खिताब 2013, 2015, 2017, 2019 चार बार जीतने वाली पहली टीम बन गई है। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई की टीम तीन खिताब 2010, 2011, 2018 के साथ दूसरे नंबर पर है।

drishti haldwani

तीन जीवनदान के बाद मैच नहीं जीता पाये वॉटसन

चेन्नई के गेंदबाजों ने मुंबई को 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 149 रनों पर रोक दिया था। चेन्नई के लिए आखिरी ओवर तक सब सही जा रहा था, लेकिन शेन वॉटसन 80 के रन आउट होने से बाजी पलट गई। आखिरी गेंद पर चेन्नई को जीत के लिए दो रन चाहिए थे। लसिथ मलिंगा ने इसी गेंद पर शार्दुल ठाकुर को एलबीडब्ल्यू आउट कर मुंबई के खाते में चौथा आईपीएल खिताब डाला। चेन्नई 20 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 148 रन ही बना सकी। वॉटसन को इस मैच में तीन जीवनदान भी मिले, लेकिन वह फिर भी चेन्नई को जीत नहीं दिला पाए।

मलिंगा ने पटल दी बाजी

आखिरी ओवर में चेन्नई को नौ रनों की जरुरत थी। वॉटसन के रहने से चेन्नई की जीत की उम्मीदें बरकरार थीं, लेकिन चौथी गेंद पर रन लेने को लेकर हुई असमंजस में वॉटसन रन आउट हो गए। अगली दो गेंदों पर चार रन चाहिए थे। अभी-अभी क्रीज पर आए शार्दुल ठाकुर ने ओवर की पांचवीं गेंद पर दो रन लिए। इस तरह चेन्नई को जीत के लिए आखिरी गेंद पर दो रन बनाने थे। लसिथ मलिंगा ने यह गेंद यार्कर लेंथ की फेंकी, जो मिडिल स्टंप की दिशा में थी। शार्दुल इस गेंद को ठीक से नहीं पढ़ पाए। गेंद सीधे उनके पैड से टकराई और अंपायर ने उन्हें एलबीडल्यू करार दिया। इसके साथ ही मुंबई की टीम एक रन से मैच जीत गई।