नई दिल्ली-भारत के इस पूर्व स्टार बल्लेबाज ने बताया पंत को 4 नंबर के लिए बेस्ट, बोले टीम इंडिया का इंतजार खत्म

Slider

नई दिल्ली-आखिरकार टीम इंडिया को नंबर 4 का बल्लेबाज मिल गया। लंबे समय से टीम ने इस नंबर पर कई खिलाडिय़ों को अजमाया है। लेकिन कोई सफल नहीं हो पाया। इसके बाद विश्वकप शुरू होनेे करीब एक साल पहले टीम इंडिया का जिक्र होने पर एक बहस शुरू हो जाती थी कि नंबर-4 पर कौन खेलेगा। भारत इस नंबर पर विश्व कप में तीन खिलाडिय़ों को आजमा चुका है।

बांग्लादेश के खिलाफ हुए मुकाबले में ऋषभ पंत नंबर-4 पर उतरे और उन्होंने 41 गेंदों पर 48 रन की पारी खेली। इस खिलाड़ी को युवराज सिंह का समर्थन भी मिल गया है। युवी 2011 में हुए विश्व कप में मैन ऑफ द सीरीज थे। इससे पहले पंत को टीम में रखने के लिए पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने खूब पहल की थी उन्होंने विश्वकप में पंत को रखने की मांग की थी।

Slider

Yuvraj-Rishabh Indian Cricketer

पंत सबसे अच्छे खिलाड़ी

विश्वकप शुरू होते ही भारतीय ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन घायल हुए और रिषभ टीम में उनके कवर के तौर पर इंग्लैंड भेजे गए। इसके बाद धवन विश्व कप टीम से बाहर हुए और रिषभ की टीम में एंट्री हो गई। एक बार फिर से वो अपनी बारी का इंतजार कर ही रहे थे कि विजय शंकर भी चोटिल हो गए और उन्हें नंबर चार पर खेलने का मौका मिल ही गया। पूरे देश ने जिस खिलाड़ी की विश्व कप टीम में मांग की थी वो खिलाड़ी बांग्लादेश के खिलाफ जरूर अर्धशतक से चूक गया, लेकिन उनकी पारी अच्छी रही।

पंत में है प्रतिभा-युवराज

पंत की इस पारी से पूर्व भारतीय बल्लेबाज युवराज सिंह का मानना है कि ऋषभ पंत नंबर चार पर बल्लेबाजी के लिए सही चुनाव हैं। पंत को इस स्थान के लिए योजनाबद्ध तरीके से तैयार करना चाहिए।इससे पहले पंत ने इंग्लैंड के खिलाफ 29 गेंदों पर 32 रन बनाए थे। यह विश्व कप में उनका पहला मैच था। युवराज सिंह ने भारत और बांग्लादेश के बीच खेले जा रहे मैच के दौरान ट्वीट कर कहा कि मुझे लगता है कि आखिरकार हमने भविष्य के लिए अपना नंबर चार का बल्लेबाज पा लिया है। हमें उसे बेहतर ढंग से तैयार करने की जरूरत है। पिछले महीने ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा करने वाले युवराज ने साथ ही कहा कि पंत में काफी प्रतिभा है। ऋषभ पंत को शिखर धवन के चोटिल होने के बाद टीम इंडिया में शामिल किया गया है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें