inspace haldwani
inspace haldwani
Home खेल नई दिल्ली-अब क्रिकेट में एक खिलाड़ी चोटिल हुआ तो दूसरे को शामिल...

नई दिल्ली-अब क्रिकेट में एक खिलाड़ी चोटिल हुआ तो दूसरे को शामिल कर सकेंगी टीम, आईसीसी ने किया क्रिकेट में बड़ा बदलाव

मुश्ताक अहमद की जगह ज्ञानेंद्रो निंगोम्बम हॉकी इंडिया के नये अध्यक्ष बने

नयी दिल्ली। मणिपुर के ज्ञानेंद्रो निंगोंबम को शुक्रवार को निर्विरोध हॉकी इंडिया का अध्यक्ष चुना गया जो मोहम्मद मुश्ताक अहमद की जगह लेंगे जिन्हें राष्ट्रीय खेल संहिता के कार्यकाल के...

गौतम गंभीर के घर पहुंचा कोरोना वायरस, घर में ही हुए क्वा रटींन

नयी दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर घर में कोविड-19 का पॉजिटिव मामला मिलने पर पृथकवास में चले गये है। उन्होंने भी हालांकि इसकी जांच कराई...

भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरे में मैच का शेड्यूल जारी, देखें पूरा शेड्यूल

जल्द ही भारतीय क्रिकेट टीम का ऑस्ट्रेलिया दौरा होने जा रहा है। इसकी शुरुआत 27 नवंबर को सिडनी (Sydney) में वनडे मुकाबले से होगी।...

Kapil Dev के स्वास्थ्य में सुधार, शाहरुख और रणवीर समेत कई हस्तियों ने मांगी सलामती की दुआ

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के दिग्गज खिलाड़ी और भारत को पहला क्रिकेट वर्ल्डकप (World Cup) जिताने वाले पूर्व क्रिकेटर कपिल देव को...

Kapil Dev को पड़ा दिल का दौरा, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

भारत के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर कपिल देव (Cricketer Kapil Dev) को दिल का दौरा पड़ने की खबरें आयीं हैं। दावा किया गया है कि...

नई दिल्ली-क्रिकेट लंबे समय से ऐसे ही एक नियम को लेकर असमंजस्य में था। कई बार खिलाड़ी मैच के दौरान चोटिल हो जाते है। ऐसे में या तो उन्हें रिटायर्ड हर्ड होना पड़ता है या फिर मजबूरी में पीड़ा में ही खेलना पड़ता है। नियम के मुताबित खिलाड़ी केवल फीडिंग कर सकता है। लेकिन अब आप चोटिल खिलाड़ी की जगह टीम नये खिलाड़ी को शामिल कर सकेंगी।

यानि अगर कोई खिलाड़ी चोटिल होता है तो उसकी जगह दूसरा खिलाड़ी टीम में शामिल किया जा सकेगा। वह बॉलिंग, बैटिंग और विकेटकीपिंग भी कर सकेगा। ऐसे खिलाडिय़ों को कन्कशन सब्स्टिट्यूट कहा जाएगा। यह नियम इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के बीच एक अगस्त से होने वाली एशेज सीरीज से लागू होगा।

Word cup 2019 Inged

विगत दिनों लंदन में आयोजित आईसीसी की वार्षिक कॉन्फ्रेंस में यह नियम लागू करने का निर्णय लिया गया। यह नियम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फॉर्मेट और फस्र्ट क्लास क्रिकेट में लागू होगा। कन्कशन सब्स्टिट्यूट मैदान पर उतारने का फैसला मैच रेफरी करेंगे। नियम में स्पष्ट है कि जैसा खिलाड़ी चोटिल हुआ है, उससे मिलता-जुलता खिलाड़ी ही टीम में ला सकते हैं। जैसे स्पेशलिस्ट बल्लेबाज की जगह बल्लेबाज या गेंदबाज की जगह गेंदबाज।

Related News

मुश्ताक अहमद की जगह ज्ञानेंद्रो निंगोम्बम हॉकी इंडिया के नये अध्यक्ष बने

नयी दिल्ली। मणिपुर के ज्ञानेंद्रो निंगोंबम को शुक्रवार को निर्विरोध हॉकी इंडिया का अध्यक्ष चुना गया जो मोहम्मद मुश्ताक अहमद की जगह लेंगे जिन्हें राष्ट्रीय खेल संहिता के कार्यकाल के...

गौतम गंभीर के घर पहुंचा कोरोना वायरस, घर में ही हुए क्वा रटींन

नयी दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर घर में कोविड-19 का पॉजिटिव मामला मिलने पर पृथकवास में चले गये है। उन्होंने भी हालांकि इसकी जांच कराई...

भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरे में मैच का शेड्यूल जारी, देखें पूरा शेड्यूल

जल्द ही भारतीय क्रिकेट टीम का ऑस्ट्रेलिया दौरा होने जा रहा है। इसकी शुरुआत 27 नवंबर को सिडनी (Sydney) में वनडे मुकाबले से होगी।...

Kapil Dev के स्वास्थ्य में सुधार, शाहरुख और रणवीर समेत कई हस्तियों ने मांगी सलामती की दुआ

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के दिग्गज खिलाड़ी और भारत को पहला क्रिकेट वर्ल्डकप (World Cup) जिताने वाले पूर्व क्रिकेटर कपिल देव को...

Kapil Dev को पड़ा दिल का दौरा, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

भारत के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर कपिल देव (Cricketer Kapil Dev) को दिल का दौरा पड़ने की खबरें आयीं हैं। दावा किया गया है कि...

IPL 2020: दर्शकों का इंतजार खत्म, आज होगा IPL की सबसे बड़ी टीमों के बीच मुकाबला

दर्शक पिछले कई दिनों से आईपीएल सीजन 13 (IPL season 13) का इंतजार का वेट कर रहे थे। दर्शकों का यह इंतजार आज खत्म...