iimt haldwani

नैनीताल-फूड प्रोसेसिंग हब के रूप में विकासित होगा नैनीताल जिला, ऐसे मिलेगा रोजगार

427

नैनीताल-न्यूज टुडे नेटवर्क- जिले में कृषि एवं फलोत्पादन के क्षेत्र में दिन प्रतिदिन मजबूत होते जा रहे बुनियादी ढांचे और बढ़ रही संभावनाओं के चलते फूड प्रोसेसिंग हब के रूप में विकसित करने के लिए शासन एवं प्रशासन द्वारा उद्यमियों को हर संभव मदद उपलब्ध करायी जायेगी। यह बात जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन ने जिले में खाद्य प्रसंस्करण से जुड़े उद्यमों को विकसित करने एवं उद्यमियों को जागरूक करने के लिए विकास खण्ड सभागार में आयोजित कार्यशाला में कही। ब्लॉक प्रमुख भोला दत्त भट्ट ने कहा कि सरकारी क्षेत्रों में रोजगार के सीमित अवसर होने के कारण युवाओं को अपनी प्रतिभा को पहचानते हुए बाजार की मांग एवं आपूर्ति के अनुसार अपना सूक्ष्म एवं लघु उद्योग स्थापित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों की स्थापना से स्थानीय उत्पादों का उचित मूल्य मिलन के साथ ही रोजगार के अवसरों में वृद्धि होगी और पलायन भी रूकेगा।

amarpali haldwani

उद्योग के क्षेत्र में सफलता की संभावना-डीएम

डीएम विनोद सुमन ने कहा कि जनपद में कृषि एवं फलोत्पादन की क्षमता को देखते हुए फूड प्रोसेंसिंग हेतु चुना गया है। उन्होंने कहा कि भविष्य सवांरने एवं अच्छे कार्य करने के लिए अवसर बार-बार नहीं मिलते हैं। जिले को जो अवसर मिला है, युवाओं को उसका लाभ उठाना चाहिए। उन्होंने कहा कि उद्योग के क्षेत्र में सफलता की अपार संभावनाएं है, अवसर को पहचान कर सही समय पर सही दिशा में प्रयास करने की है। उन्होंने कहा कि पूरी जानकारियों के संग्रहण के साथ किये गये प्रयास ही व्यक्ति को सफल बनाते हैं। उन्होंने कहा कि जिले में फूड प्रोसेंसिंग यूनिट लगाने के इच्छुक व्यक्तियों को जिला प्रशासन द्वारा तत्परता से हर संभव मदद उपलब्ध करायी जायेगी।

त्पादों की गुणवत्ता, ब्रांडिंग एवं मार्केटिंग को दिये सुझाव

उन्होंने कहा कि फूड प्रोसेसिंग के क्षेत्र में जिले में अपार संभानाएं है, युवाओं एवं उद्यमियों को यूनिट लगाने के लिए मार्केट सर्वे करते हुए आगे आना चाहिए तथा जो यूनिट पहले से स्थापित हैं उन्हें पुन: विश्लेषण करते हुए आधुनिकतम तकनीकि का उपयोग करना चाहिए। सुमन ने उत्पादों की गुणवत्ता, ब्रांडिंग एवं मार्केटिंग आदि के सम्बन्ध में उदाहरण प्रस्तुत करते हुए महत्वपूर्ण सुझाव दिये। कहा कि बैंक किसी व्यक्ति के विकास में बाधा न बनें, बल्कि सकारात्मक सोच रखते हुए युवाओं को प्राथमिकता से ऋण उपलब्ध कराये। उन्होंने सभी अधिकारियों तथा बैंकर्स को आपसी तालमेल से कार्य करते हुए उद्यम स्थापित करने के इच्छुक व्यक्तियों को विभिन्न योजनाओं के माध्यम से लाभांवित करने के निर्देश दिये।

19 फरवरी तक जिले में लगेंगे कैम्प

मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार ने बताया कि वर्तमान में फूड प्रोसेंसिंग हेतु जनपद में 16 कलस्टर एवं 49 स्थानों की 26 फसलों को चिन्हित किया गया है। उन्होंने बताया कि एमएसएमई योजना के अन्तर्गत फूड प्रोसेसिंग यूनिट के महत्वए संभावना एवं जागरूकता हेतु जिले के विभिन्न स्थानों पर 19 फरवरी तक 18 कैम्प आयोजित किये जायेंगे और हर कैम्प के लिए एंकर इण्डस्ट्री चिन्हित की गयी है। उन्होंने बताया कि जनवरी माह में लाभार्थियों का चयन किया जायेगा तथा फरवरी माह में सम्बन्धित क्षेत्र में प्रशिक्षण उपलब्ध कराया जायेगा और मार्च माह में उनका प्रस्ताव शासन को प्रेषित किया जायेगा।