नैनीताल- क्वारंटीन नियमों के उल्लंघन पर हाईकोर्ट ने मंत्री सतपाल महाराज को भेजा नोटिस, सरकार से भी मांगा ये जवाब

Slider

नैनीताल-आज नैनीताल हाईकोर्ट ने कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज को क्वारंटीन नियमों के उल्लंघन मामले में नोटिस जारी कर जवाब दाखिल करने का आदेश जारी किया है। हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रमेश रंगनाथन की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने मंत्री के साथ ही राज्य सरकार, डीएम व एसएसपी देहरादून को भी नोटिस जारी कर तीन हफ्तों में जवाब देने का आदेश दिया है।

satpal maharaj Minister Of Tourism uttarakhand

Slider

मामले में कोर्ट पूछा कि जब आम लोगों पर आइपीसी की धारा 188, 307 समेत अन्य धाराओं में मुकदमा किया जा रहा है तो इनको क्यों बचाया जा रहा है। यह भी कहा कि कहीं संवैधानिक पद पर होने के चलते तो सरकार इनको नहीं बचना चाहती है। बता दें कि विगत 20 मई को मंत्री सतपाल महाराज के घर पर सभी लोगों को होम क्वारंटीन का नोटिस चस्पा किया था, जिसकी अवधि तीन जून तक थी। लेकिन इसके बाद महाराज ने बिना किसी को क्वारन्टीन की जानकारी के 21 मई को कैबिनेट बैठक में हिस्सा लिया तो 25 से 27 मई तक अपनी विधानसभा में भ्रमण करते रहे।

इसके बाद 29 को दूसरी कैबिनेट बैठक में हिस्सा लिया। जब उनकी पत्नी अमृता रावत की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आयी तो पूरे परिवार का टेस्ट कराया गया। इसके बाद परिवार के लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई, जिनको एम्स ऋषिकेश में भर्ती करना पड़ा। इसके बाद कई अधिकारियों और मंत्रियों को भी क्वारंटीन होना पड़ा। देहरादून के उमेश कुमार ने जनहित याचिका दाखिल कर मंत्री पर भी एफआइआर दर्ज करने की मांग है। जिसमें उन्होंने कहा कि जब आम नागरिकों पर क्वारंटीन नियमों के उल्लंघन में मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं तो महाराज का क्यों कार्रवाई नहीं हो रही है।

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें