inspace haldwani
Home उत्तराखंड कुमाऊँ नैनीताल-ऑनलाइन शॉपिंग पर उच्च न्यायालय ने याचिकाकर्ता को दिया केंद्र सरकार को...

नैनीताल-ऑनलाइन शॉपिंग पर उच्च न्यायालय ने याचिकाकर्ता को दिया केंद्र सरकार को शिकायत के निर्देश

नैनीताल-उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने ऑन लाइन शॉपिंग कराने वाली कम्पनियो के प्रोडक्ट में जानकारी मुहैया नही कराए जाने के खिलाफ दायर जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए याचिकाकर्ता से अपनी शिकायत केंद्र सरकार को दर्ज कराने को कहा है।याचिकाकर्ता ने प्रोडक्ट से जुड़ी जानकारियां, जैसे कहाँ बना है ? किस देश में बना है और उसकी मदर कम्पनी किस देश की है जैसे अनिवार्य सवाल नहीं दिए जाने की शिकायत की थी ।

highcourt nainital notice
खण्डपीठ ने जनहित याचिका को इस आधार पर निरस्त कर दिया है कि याचिकाकर्ता ने अपनी शिकायत केंद्र सरकार को नही भेजी थी। कोर्ट ने यह भी आदेश दिया है कि अगर उनकी शिकायत पर केंद्र सरकार सम्बन्धित कम्पनी पर कोई दण्डात्मक कार्यवाही नही करती है तो याचिकाकर्ता दुबारा उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर सकता है ।
मामले की सुनवाई कार्यवाहक मुख्य न्यायधीश रवि कुमार मलिमथ व न्यायमुर्ति एनएस धनिक की खण्डपीठ में हुई।
सुनवाई के दौरान असिस्टेंट सॉलिसिटर जर्नल राकेश थपलियाल ने केंद्र सरकार का पक्ष रखते हुए कहा कि याचिकाकर्ता ने अभी इस सम्बंध में कोई शिकायत केंद्र सरकार को नही दी है। मामले के अनुसार नैनीताल निवासी अवनीश उपाध्याय ने जनहित याचिका दायर कर ऑनलाइन शॉपिंग कराने वाली कंपनियां जैसे अमेजोन, फ्लिपकार्ट, मिंत्रा, नायका ई रिटेल, स्नैपडील, आजीयो, लाइफ स्टाइटल इंटरनेशनल को पक्षकार बनाया । याचिकाकर्ता का कहना था कि इन कम्पनियो के द्वारा ऑनलाइन शॉपिंग कराते वक्त प्रोडक्ट कहाँ बना है, किस देश मे बना है और उसकी मदर कम्पनी किस देश की है ? यह नही दिखाया जाता है, जिसके कारण उपभोक्ता अपने को ठगा महसूस करता है। अगर उपभोक्ता प्रोडक्ट सही नही होने पर उसके खिलाफ उपभोक्ता फोरम में शिकायत करना भी चाहता है तो वह भी नही कर सकता क्योंकि उस कम्पनी का पता ही नही है। याचिकाकर्ता के अधिवक्ता का कहना है कि इस सम्बंध में केंद्र सरकार ने 2011 में लीगल मिट्रोलॉजी एक्ट बनाया था और 2018 में इस एक्ट को संसोधित भी किया था । इसमें कहा गया कि ऑनलाइन शॉपिंग कराने वाली कम्पनियां अपने प्रोडक्ट में उसकी निर्मित अवधि, किस स्थान पर बना है किस देश का है उससे ? ऐसी सभी जानकारियां प्रोडक्ट के साथ देंगे, लेकिन ये कम्पनियां प्रोडक्ट से जुड़ी कोई जानकारी नही देती है। याचिकाकर्ता का कहना है कि ऑन लाइन शॉपिंग कराने वाली कम्पनियां प्रोडक्ट के साथ उससे जुड़ी सभी जानकारियां उपलब्ध कराए।

Related News

पूर्व स्वास्थ्य मंत्री बेहड़ अब किच्छा से लड़ेंगे चुनाव, ऐलान से सरगर्मियां शुरू

रुद्रपुर। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तिलकराज बेहड़ अब किच्छा विधान सभा से चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने किच्छा में कार्यकर्ताओं के बीच अपनी मंशा जाहिर कर दी...

हल्द्वानी – विरोध करने पर स्मैक तस्करों ने युवक की ऐसे की पिटाई , कि जानकार आप भी रह जाएंगे हैरान 

हल्द्वानी -  स्मैक बेचना  का विरोध करना एक युवक को महंगा पड़ गया। आधा दर्जन से अधिक स्मैक तस्करों ने युवक को जमकर पीटा।...

हल्द्वानी – पुलिस चौकी के सामने दो पक्षों के बीच जमकर हुई मारपीट ,आधा दर्जन से ज्यादा लोग हुए घायल

हल्द्वानी। नगर की संवेदनशील राजपुरा पुलिस चौकी के सामने बीती रात जमकर बवाल हुआ। दो पक्षो के बीच चले लाठी डंडों में करीब आधा...

रुद्रपुर: शहरी विकास मंत्री कल लेंगे कार्यकर्ताओं की बैठक

रुद्रपुर। प्रदेश के शहरी विकास मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री मदन कौशिक कल जिला मुख्यालय रुद्रपुर में पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से भेंट...

नैनीताल-राज्य के विवि में भरे जायेंगे 300 प्राध्यापकों के पद, कुमाऊं विवि को लेकर उच्च शिक्षा राज्य मंत्री ने कही ये बात

नैनीताल-आज उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने कुमाऊं विवि में संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर व पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न अटल बिहारी...

रुद्रपुर: शान ओ शौकत से खुला बंसल साड़ीज का शोरूम, पहले दिन उमड़ी महिलाओं की भीड़

रुद्रपुर। व्यापार के क्षेत्र में प्रतिष्ठित बंसल ग्रुप ने अब कपड़ो के व्यापार में भी जोरदार धमक के साथ कदम रख दिए है। आज प्रातः सिविल लाइन...