inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तराखंड नैनीताल- अब इस मामले में हाईकोर्ट ने सरकार को लगाई फटकार, मुख्य...

नैनीताल- अब इस मामले में हाईकोर्ट ने सरकार को लगाई फटकार, मुख्य सचिव को भेजी आदेश की कॉपी

रुद्रपुर: जिला पंचायत का लदान ढुलान ठेकेदार इस तरह हुआ ब्लेक लिस्टेड, डीएम बरेली भी करेंगे यह जांच

रुद्रपुर। जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी ने लदान ढुलान के ठेकेदार शशांक चांडक को शासन द्वारा गठित जांच समिति की रिपोर्ट आने तक...

देहरादून- उत्तराखंड में आज कोरोना से हुई इतनी मौते, इस जिले में मिले सबसे अधिक पॉजिटिव केस

उत्तराखंड में आज 530 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही राज्य में आंकड़ा बढ़कर 73527 हो गया है। जबकि 5 लोगों की...

देहरादून- सीएम त्रिवेन्द्र ने यहां किया पराई सत्र का शुभारंभ, की डोईवाला प्लांट के आधुनिकीकरण की घोषणा

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को शुगर कम्पनी लिमिटेड डोईवाला के पराई सत्र 2020-21 का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि पिछले...

देहरादून- जाने क्या है उत्तराखंड के इस पद्मश्री सम्मान विजेता की कहानी, क्यो सरकार ने दिया खास सम्मान

आदित्य नारायण पुरोहित एक भारतीय वैज्ञानिक और प्रोफेसर हैं, जिन्होंने मुख्य रूप से पेड़ की प्रजातियों और उच्च ऊंचाई वाले औषधीय पौधों के शरीर...

रुद्रपुर: हाइवे पर किसानों ने जमाया डेरा, बेहड़ ने समर्थन देकर कही यह बात

रुद्रपुर । किसान विरोधी अध्यादेशों के खिलाफ प्रदर्शन करने दिल्ली जा रहे तराई के किसानों को रुद्र बिलास चीनी मिल के पास पुलिस द्वारा...

उत्तराखंड हाईकोर्ट ने गंगोत्री ग्लेशियर में फैल रहे कूड़े तथा इससे बनी झील के मामले में सरकार की कार्यप्रणाली पर गहरी नाराज़गी प्रकट की है। कोर्ट ने तल्ख टिप्पणी करते हुए सचिव आपदा प्रबंधन के खिलाफ अवमानना की कार्यवाही शुरू करते हुए तीन सप्ताह में जवाब दाखिल करने के निर्देश दिए हैं। कोर्ट ने टिप्पणी की है कि आपदा प्रबंधन सचिव सरकारी नौकरी और इस पद के योग्य नहीं है। कोर्ट ने आदेश का पालन न होने पर कहा है कि आदेश की कॉपी मुख्य सचिव को भेजी जाए।

कोर्ट के आदेश को किया नज़र अंदाज

बता दें कि दिल्ली निवासी अजय गौतम ने 2017 में जनहित याचिका दायर कर कहा था कि गंगोत्री ग्लेशियर में कूड़े-कचरे की वजह से पानी ब्लॉक हो गया था और कृत्रिम झील बन गई है, इससे बड़ी आपदा आ सकती है। याचिकाकर्ता के अनुसार इस मामले में सरकार ने पहले जवाब में माना था कि झील बनी है जबकि बाद में कहा था कि हैलिकॉप्टर के सर्वे के बाद देखा तो झील नहीं बनी है।

2018 में कोर्ट ने जनहित याचिका को निस्तारित करते हुए सरकार को 3 माह तक इसकी मॉनिटरिंग करने और छह माह में रिपोर्ट कोर्ट में पेश करने के निर्देश दिए थे मगर सरकार ने ऐसा कुछ नहीं किया गया। उसके बाद याचिकाकर्ता ने फिर कोर्ट में प्रार्थना पत्र दाखिल किया।

अवमानना की कार्यवाही शुरू

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रवि मलिमठ व न्यायमूर्ति शरद कुमार शर्मा की खंडपीठ में सुनवाई के दौरान सरकार द्वारा गंगोत्री ग्लेशियर के फोटोग्राफ आदि पेश किए गए। कोर्ट ने मामले में सरकार की हीलाहवाली पर सख़्त नाराज़गी प्रकट की। साथ ही सचिव आपदा प्रबंधन के खिलाफ अवमानना की कार्यवाही शुरू करते हुए तीन सप्ताह में जवाब दाखिल करने के निर्देश भी दिए है।

Related News

रुद्रपुर: जिला पंचायत का लदान ढुलान ठेकेदार इस तरह हुआ ब्लेक लिस्टेड, डीएम बरेली भी करेंगे यह जांच

रुद्रपुर। जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी ने लदान ढुलान के ठेकेदार शशांक चांडक को शासन द्वारा गठित जांच समिति की रिपोर्ट आने तक...

देहरादून- उत्तराखंड में आज कोरोना से हुई इतनी मौते, इस जिले में मिले सबसे अधिक पॉजिटिव केस

उत्तराखंड में आज 530 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही राज्य में आंकड़ा बढ़कर 73527 हो गया है। जबकि 5 लोगों की...

देहरादून- सीएम त्रिवेन्द्र ने यहां किया पराई सत्र का शुभारंभ, की डोईवाला प्लांट के आधुनिकीकरण की घोषणा

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को शुगर कम्पनी लिमिटेड डोईवाला के पराई सत्र 2020-21 का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि पिछले...

देहरादून- जाने क्या है उत्तराखंड के इस पद्मश्री सम्मान विजेता की कहानी, क्यो सरकार ने दिया खास सम्मान

आदित्य नारायण पुरोहित एक भारतीय वैज्ञानिक और प्रोफेसर हैं, जिन्होंने मुख्य रूप से पेड़ की प्रजातियों और उच्च ऊंचाई वाले औषधीय पौधों के शरीर...

रुद्रपुर: हाइवे पर किसानों ने जमाया डेरा, बेहड़ ने समर्थन देकर कही यह बात

रुद्रपुर । किसान विरोधी अध्यादेशों के खिलाफ प्रदर्शन करने दिल्ली जा रहे तराई के किसानों को रुद्र बिलास चीनी मिल के पास पुलिस द्वारा...

उत्तराखंड- मुख्यसचिव ओमप्रकाश ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को दिये ये कड़े निर्देश, आम जनता को ऐसे होगा फायदा

आम नागरिक को उत्तराखंड के सरकारी विभागों में काम कराने और लेन-देन के लिए एड़ियां नहीं घिसनी पड़ेंगी। मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने वीडियो कांफ्रेंसिंग...