नैनीताल-सीएम पोर्टल समाधान के लिए अधिकारियों को ऐसे किया जा रहा दक्ष, कुमाऊंनी व गढ़वाली में भी होगी शिकायत दर्ज

Slider

नैनीताल- जनसामान्य की शिकायतों कें निराकरण के लिए बनाए गए सीएम हेल्पलाइन पोर्टल 1905 के सभी स्तर के अधिकारियों को प्रशिक्षण देकर दक्ष किया जा रहा है। इसी क्रम में बुद्धवार को एटीआई सभागार में जनपद के एल 1 और एल 2 स्तर के अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया है। सचिव मुख्यमंत्री राजीव रौतेला ने कहा कि हम सभी लोक सेवक है, इसलिए जनता को सुगम व गुणवत्तापूर्ण सेवा देना हमारा दायित्व है। उन्होंने कहा कि जनता जागरूक है और उनकी अपेक्षाएं भी अधिक हैं, हमें जनता की अपेक्षाओं के अनुसार कार्य करए खरा उतरना होगा। सरकार व हमारा उद्देश्य आम जनता को सेवा देना है तथा उनकी समस्याओं का समयबद्धता से निस्तारण करना है।

Rajeev Routela
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा सीएम एप भी चलाया गया था, जिससे मुख्यमंत्री द्वारा 11 हजार से अधिक जन शिकायतों का निराकरण किया था, अब मुख्यमंत्री द्वारा सीधे जनता तक पहुॅच बनाने व उनकी समस्याओं व शिकायतों के निराकरण हेतु मुख्यमंत्री हेल्पलाईन प्रारंभ की गयी है, जिसमें प्रत्येक स्तर पर अधिकारियों द्वारा 7 दिन के भीतर समस्याओं का निदान करना आवश्यक होगा। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपने कार्य एवं दायित्वों को संजीदगी से करते हुए जनता की समस्याओं का समाधान समयबद्ध तरीके से करें। मुख्यमंत्री कार्यालय में सीएम हेल्पलाइन के प्रभारी रवीन्द्र दत्त ने बताया कि जनता की सहूलियत के लिए और शिकायत प्रक्रिया को और सरल बनाने के लिये मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के निर्देश पर क्षेत्रीय भाषाओं में भी सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज करने की सुविधा दी गई है। उत्तराखण्ड का कोई भी नागरिक कई भाषाओं में सीएम हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर 1905 पर हिंदी, अंग्रेजी, गढ़वाली, पंजाबी, कुमाउनी भाषा मे अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है।

Slider

savin bansal

जिलाधिकारी सविन बंसल ने कहा कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के लिए दिये जा रहे प्रशिक्षण को सभी अधिकारी गम्भीरता से लें। उन्होंने कहा कि यदि हेल्पलाइन से संबन्धित कोई समस्या आ रही हो तो प्रशिक्षण में आये प्रशिक्षकों एवं विशेषज्ञों से अपनी समस्या का समाधान करा लें। उन्होनें कहा जनता के साथ सीधा संवाद करने और जनता की परेशानियों को दूर करने के लिए सुशासन को लागू करते हुए उत्तराखण्ड के प्रत्येक नागरिक के लिए महत्वपूर्ण जन कल्याणकारी योजना के रूप में मुख्यमंत्री ने सीएम हेल्पलाइन की ऐतिहासिक शुरूआत की है। उन्होने अधिकारियों से कहा सीएम हेल्पलाइन को रोज देखना अपनी आदतों में शामिल करें, जो शिकायत आपके विभाग से संबन्धित नहीं है उसे सम्बन्धित विभाग को हस्तान्तरित किया जाये।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें
A valid URL was not provided.