inspace haldwani
inspace haldwani
Home साहित्य कविता-न जाने कितने शहीद हुए

कविता-न जाने कितने शहीद हुए

क्या अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी वाकई गैरकानूनी है

  लेख रिपब्लिक इण्डिया चैनल के मुख्य संपादक अर्नब गोस्वामी की एक अपराधी के समान की गई गैरकानूनी गिरफ्तारी लोकतंत्र के इतिहास में बेहद अफसोस जनक है। वास्तव...

क्वाड देशो के मालाबार अभ्यास एवम 3 रफेल आने से चीन-पाक परेशान

  लेख अरुणांचल, लेह लद्दाख में चीन से सटी वास्तविक नियंत्रण रेखा ( एल ए सी) पर चल रहे तनाव के बीच भारत ने चीन को...

मन्‍दिर में नमाज पढ़ने के मसले को तूल देना उचित नहीं है, इससे हिन्‍दुत्‍व के उदारवादी रवैये पर कोई फर्क नहीं पड़ता

लेख यूपी के मथुरा में मंदिर में नमाज पढऩे के जुर्म में फैसल खान को गिरफ्तार कर लिया गया है। फैसल और उनके साथियों के...

लीजिए हुक्म रानों ने पूरी कर दी आपकी कश्मी्र में बसने की ख्वाहहिश

लीजिए, हुक्मरानों ने आपकी कश्मीर में बसने की हसरत भी पूरी कर दी है। अब आपको पट्टे पर जमीन लेकर घर बसाने या कारोबार...

बरेली- आईएएस वीरेन्द्र कुमार ने किया अप्रतिम हिन्दी गीत शतक का संपादन, देखिये युवाओं को कैसे दे रहे हैं सीख

बरेली-हाल ही में वीरेन्द्र कुमार सिंह के सम्पादन में नयी किताब प्रकाशन नई दिल्ली से एक गीत संचयन अप्रतिम हिन्दी गीत शतक प्रकाशित हुआ...

उत्तराखंड के लोकप्रिय वेब पोर्टल न्यूज टुडे नेटवर्क की ओर से स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में आॅनलाइन कविता प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इसमें बाल, युवा और वरिष्ठ सभी वर्गों के लोग प्रतिभाग कर सकते हैं। प्रतियोगिता में मेरे प्यारे वतन विषय पर देशभक्ति से ओत.प्रोत स्वरचित कविता लिखकर 20 अगस्त तक भेजनी है। इसके तहत सेंट फ्रांसिस सीनियर सेकेंडरी स्कूल टनकपुर के छात्र अभिषेक कलखुड़िया की शानदार कविता पढ़िए-

न जाने कितने शहीद हुए, न जाने कितने रक्त बहे।
न अपनों की याद थी, न अपना कोई स्वार्थ था।
क्योंकि इसको बचाना, अपना पहला अरमान था।
ये और कोई नहीं, ये है मेरा प्यारा वतन।
इसको बचाने के लिए हर जीवन कुर्बान है।
क्योंकि यही हमारी शान है, यही हमारा अभिमान है।
एक बार अपने वतन की माटी, जो सर पे लगा लूं।
आए कोई मुसीबत तो, मुस्कुराकर उसको हरा दूं।
मेरे वतन की बात ही कुछ निराली है,
इसकी रक्षा के लिए हर चुनौती अपना ली है।
मेरा वतन सबसे महान है, क्योंकि तिरंगा इसकी शान है।
हर हाल में इसे बचाना है और अपना कर्तव्य निभाना है।

Related News

क्या अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी वाकई गैरकानूनी है

  लेख रिपब्लिक इण्डिया चैनल के मुख्य संपादक अर्नब गोस्वामी की एक अपराधी के समान की गई गैरकानूनी गिरफ्तारी लोकतंत्र के इतिहास में बेहद अफसोस जनक है। वास्तव...

क्वाड देशो के मालाबार अभ्यास एवम 3 रफेल आने से चीन-पाक परेशान

  लेख अरुणांचल, लेह लद्दाख में चीन से सटी वास्तविक नियंत्रण रेखा ( एल ए सी) पर चल रहे तनाव के बीच भारत ने चीन को...

मन्‍दिर में नमाज पढ़ने के मसले को तूल देना उचित नहीं है, इससे हिन्‍दुत्‍व के उदारवादी रवैये पर कोई फर्क नहीं पड़ता

लेख यूपी के मथुरा में मंदिर में नमाज पढऩे के जुर्म में फैसल खान को गिरफ्तार कर लिया गया है। फैसल और उनके साथियों के...

लीजिए हुक्म रानों ने पूरी कर दी आपकी कश्मी्र में बसने की ख्वाहहिश

लीजिए, हुक्मरानों ने आपकी कश्मीर में बसने की हसरत भी पूरी कर दी है। अब आपको पट्टे पर जमीन लेकर घर बसाने या कारोबार...

बरेली- आईएएस वीरेन्द्र कुमार ने किया अप्रतिम हिन्दी गीत शतक का संपादन, देखिये युवाओं को कैसे दे रहे हैं सीख

बरेली-हाल ही में वीरेन्द्र कुमार सिंह के सम्पादन में नयी किताब प्रकाशन नई दिल्ली से एक गीत संचयन अप्रतिम हिन्दी गीत शतक प्रकाशित हुआ...

कविता-शिक्षक

राजीव गांधी नवोदय चैनलिया अल्मोड़ा की छात्रा अक्षिता भट्ट की शानदार कविता पढ़िए- गुरू वही जो जीना सिखा दे आपकी आपसे पहचान करा दे तराश दे हीरे...