inspace haldwani
Home उत्तराखंड कुमाऊँ मुक्तेश्वर-नये साल में आयेगा अभिनेत्री नीना गुप्ता का ये संस्मरण, नैनीताल जिले...

मुक्तेश्वर-नये साल में आयेगा अभिनेत्री नीना गुप्ता का ये संस्मरण, नैनीताल जिले के इस खूबसूरत गांव में लिखी अपनी जीवनी

हल्द्वानी-चंदन हत्याकांड की फाइल बंद, इसलिए पुलिस ने खड़े किये हाथ

हल्द्वानी-एक ओर शहर से लेकर गांव तक आये दिन अपराधों का ग्राफ बढ़ रहा है। वहीं दूसरी ओर पुलिस खुलासे के लिए हाथ पर...

ऊधमसिंह नगर: अवैध करेंसी के साथ पांच गिरफ्तार, जानिए किस तरह ठगी करता था गैंग

रुद्रपुर। खटीमा पुलिस ने चैकिंग के दौरान दो कारों में अवैध घोषित हो चुके एक हजार के नोटों समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया...

रामनगर-(बड़ी खबर)- पुजारी के संपर्क आये इतने लोग निकले कोरोना पॉजिटिव, पुजारी की हो चुकी है मौत

रामनगर-विगत दिवस दिल्ली में उपचार के दौरान पुजारी की मौत हो गई थी। जांच में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। जिसके बाद गर्जिया देवी...

हल्द्वानी- मुख्यमंत्री पर लगाये आरोपों पर भड़के भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, कांग्रेसियों को कह डाली ये बात

उत्तराखंड मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत पर लगाये गये आरापों को आज हल्द्वानी में भाजपा कार्यकर्ताओं ने झूटा ठहराया। भाजपा के जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट ने...

हल्द्वानी-महिन्द्रा लाया है आपके लिए कम बजट में शानदार गाडिय़ां, इस गाड़ी की सबसे ज्यादा डिमांड

हल्द्वानी-दीपावली के देखते हुए गाडिय़ों की मांग बढ़ते जा रही है। खासकर ग्राहक महिन्द्रा गाडिय़ों की ज्यादा मांग कर रहे है। ऐसे में अपने...

मुक्तेश्वर –पुरस्कार विजेता अभिनेत्री नीना गुप्ता 2021 में अपने निजी और पेशेवर जीवन के लिए नो-होल्ड-वर्जित खाते के साथ बाहर आने के लिए तैयार हैं। आज पब्लिशिंग हाउस पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया की घोषणा की।  पब्लिशिंग हाउस पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया ने अपने टवीट्र अकांउट पर पोस्ट शेयर करते हुए लिखा  संस्मरण, सच कहूं तो, उनके जीवन का इतिहास होगा। दिल्ली के करोल बाग में बचपन से और उनका समय राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय में 1980 के दशक में बॉम्बे जाने के लिए साथ ही साथ उन्हें काम पाने के लिए संघर्ष करना पड़ा। असाधारण व्यक्तिगत और पेशेवर यात्रा का यह गहन अंतरंग विवरण 2021 की गर्मियों में पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया के ईबरी प्रेस छाप के तहत प्रकाशित किया जाएगा। यह उनके जीवन में बड़े मील के पत्थर, उनकी अपरंपरागत गर्भावस्था और एकल पितृत्व और बॉलीवुड में सफल दूसरी पारी का विस्तार करेगा। व्यक्ति के पीछे व्यक्ति का एक स्पष्ट, आत्म-चित्रण चित्र, यह उसके जीवन के कई विकल्पों के बारे में बात करेगा। रूढिय़ों से जूझ रहा है, तब और अब, और वह कैसे अपरंपरागत नहीं हो सकता है क्योंकि लोग उसे सोचते हैं।

नीना गुप्ता ने बताया कि 2020 में जब पूरा देश कोविड-19 के संकट से लड़ रहा थो तो मैं उत्तराखंड के एक सुंदर गांव मुक्तेश्वर में थी। यहां मुझे एहसास हुआ कि मेरे पास अपने विचारों के अलावा लड़ाई के अलावा कुछ भी नहीं था। मैंने अपने जीवन की यात्रा को प्रतिबिंबित करना शुरू कर दिया। हर दिन लंबी, घुमावदार सैर करते हुए, पक्षियों की आवाज़ की सराहना करते हुए और पहाड़ी हवा की ठंडी हवा में झूलते हुए, मैंने अपने आप से पूछा, मुझे किताब क्यों लिखनी चाहिए। मेरा क्या कहना है जो किसी की मदद और प्रेरणा दे सके, और मुझे दो चीजों का एहसास हुआ, जिससे मुझे काफी उम्मीद थी। मेरा जीवन बहुत सारी घटनाओं के साथ बीता है, जिसने मुझे भी बनाया है और मुझे भी तोड़ दिया है, और मुझे उन्हें बाहर निकालने के लिए खुद को मुक्त करने की आवश्यकता है। मेरे जीवन के बारे में, मेरी यात्रा और उन चीजों के बारे में जो मुझे दूर करना था, मुझे बेहतर और हल्का महसूस करवाएंगे। दूसरी और अधिक महत्वपूर्ण बात, पुस्तक के माध्यम से मैं यह भी जानना चाहता हूं कि मेरे दोषों, मेरे टूटे हुए रिश्तों और जीवन में मेरी परिस्थितियों के बावजूद, अगर मैं उठ सकता हूं, तो ऐसा करते हुए वास्तव में अच्छा लग रहा है, तो आप जा सकते है।

पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया के वरिष्ठ कमीशनिंग एडिटर गुरवीन चड्ढा ने इस पुस्तक का सम्पादन किया है इन दिनों गुरवीन चड्ढा अपने मूल निवास हल्द्वानी में है। वह यहीं से कार्य रही है। गुरवीन चड्ढा सामाजिक कार्यकर्ता गुरविंदर सिंह चड्ढा की बेटी है। उन्होंने कहा कि नीना पीढिय़ों से महिलाओं के लिए एक प्रेरणा है, और मुझे खुशी है कि उन्होंने अपनी अविश्वसनीय जीवन कहानी साझा करने के लिए पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया को चुना है।

गौरतलब है कि अभिनेत्री नीना गुप्ता दो बार राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता, फिल्म निर्माता, निर्माता और टेलीविजन व्यक्तित्व हैं। उन्होंने 1980 के दशक में दिल्ली के धमाकेदार थिएटर दृश्य में अपना करियर शुरू किया, लेकिन 1982 के अकादमी पुरस्कार विजेता गांधी में अभिनय करने के बाद फिल्म और टेलीविजन पर स्विच करने का फैसला किया। वह खंडन और मिर्जा ग़ालिब जैसे कई समीक्षकों द्वारा प्रशंसित टेलीविजन शो में अभिनय करने गई थीं। उन्होंने मंडी, त्रिकाल और जाने भी दो यारों जैसे कला-घर और स्वतंत्र फिल्मों में भी बड़े पैमाने पर काम किया। नीना ने कई टेलीविजन शो का निर्देशन, निर्माण और अभिनय किया है जिसमें सास, सिस्की और सोन परी शामिल हैं। उनकी सबसे हालिया रचनाओं में बधाई हो, शुभ मंगल सावधान, पंचायत और द लास्ट कलर में पुरस्कार विजेता प्रदर्शन शामिल हैं।

 

 

Related News

हल्द्वानी-चंदन हत्याकांड की फाइल बंद, इसलिए पुलिस ने खड़े किये हाथ

हल्द्वानी-एक ओर शहर से लेकर गांव तक आये दिन अपराधों का ग्राफ बढ़ रहा है। वहीं दूसरी ओर पुलिस खुलासे के लिए हाथ पर...

ऊधमसिंह नगर: अवैध करेंसी के साथ पांच गिरफ्तार, जानिए किस तरह ठगी करता था गैंग

रुद्रपुर। खटीमा पुलिस ने चैकिंग के दौरान दो कारों में अवैध घोषित हो चुके एक हजार के नोटों समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया...

रामनगर-(बड़ी खबर)- पुजारी के संपर्क आये इतने लोग निकले कोरोना पॉजिटिव, पुजारी की हो चुकी है मौत

रामनगर-विगत दिवस दिल्ली में उपचार के दौरान पुजारी की मौत हो गई थी। जांच में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। जिसके बाद गर्जिया देवी...

हल्द्वानी- मुख्यमंत्री पर लगाये आरोपों पर भड़के भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, कांग्रेसियों को कह डाली ये बात

उत्तराखंड मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत पर लगाये गये आरापों को आज हल्द्वानी में भाजपा कार्यकर्ताओं ने झूटा ठहराया। भाजपा के जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट ने...

हल्द्वानी-महिन्द्रा लाया है आपके लिए कम बजट में शानदार गाडिय़ां, इस गाड़ी की सबसे ज्यादा डिमांड

हल्द्वानी-दीपावली के देखते हुए गाडिय़ों की मांग बढ़ते जा रही है। खासकर ग्राहक महिन्द्रा गाडिय़ों की ज्यादा मांग कर रहे है। ऐसे में अपने...

रुद्रपुर: पार्षद प्रकाश धामी हत्या कांड के खुलासे को तीन दिन की मोहलत

रुद्रपुर । बीती 12 अक्टूबर को हुए पार्षद प्रकाश धामी हत्याकांड का अभी तक खुलासा नहीं हो सका है, जिससे परिजनों व समर्थकों का सब्र...