नई दिल्ली- आखिर क्यों देश के 1.13 लाख ATM इस महीने होने जा रहे बंद, जाने क्या है बड़ी वजह

Slider

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: इस महीने के अंत तक देश के आधे करीब 1.13 लाख एटीएम बंद हो सकते हैं। कंफेडरेशन ऑफ एटीएम इंडस्ट्री यानी CATMi की तरफ से ये सूचना आई है। इंडस्ट्री ने एटीएम बंद होने के पीछे की वजह तकनीकी अपग्रेड को बताया है। बता दें कि देश में करीब 2.38 लाख एटीएम हैं जिसमें से करीब 1.13 लाख एटीएम बंद हो सकते हैं। एटीएम बंद होने से हजारों नौकरियों पर असर पड़ेगा। CATMi इस बात की आशंका पिछले साल भी जता चुका है। जानकारी मुताबिक CATMi ने बयान में कहा कि जो ATM बंद हो सकते हैं। उनमें से अधिकांश गैर-शहरी क्षेत्रों के होंगे। इससे वित्तीय समावेशन की कोशिशें प्रभावित हो सकती हैं क्योंकि लाभार्थी ATM का इस्तेमाल सरकारी सब्सिडी निकालने के लिए भी करते हैं।

Slider

इसलिए बंद होंगे ATM

CATMi ने कहा कि ATM हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर अपग्रेड समेत हाल में हुए रेगुलेटरी बदलावों, कैश मैनेजमेंट स्टैंडर्ड को लेकर अध्यादेशों और कैश लोडिंग के कैसेट स्वैप मैथड से ATM ऑपरेट किया जाना नुकसानदेह हो जाएगा। नतीजतन इन्हें बंद करना पड़ेगा। CATMi ने अनुमान जताया कि केवल नए कैश लॉजिस्टिक्स और कैसेट स्वैप मैथड से ATM इंडस्ट्री पर 3000 करोड़ रुपये की लागत का बोझ पड़ेगा।

CATMi के मुताबिक, इंडस्ट्री की स्थिति में सुधार लाने का एक ही रास्ता है और वह यह कि अनुपालन की अतिरिक्त लागत का बोझ उठाने के लिए बैंक आगे आएं। अगर ATM डिप्लॉयर्स को बैंकों द्वारा इन इन्वेस्टमेंट्स का मुआवजा नहीं मिलता है, तो संभावना है कि कॉन्ट्रैक्ट सरेंडर करने के हालात पैदा हो जाएं और बड़े पैमाने पर एटीएम बंद करने पड़ें। देश में ATM लगाने की सर्विस से होने वाली आय नहीं बढ़ रही है। इसकी वजह बहुत कम ATM इंटरचेंज चार्जेस और लगातार बढ़ती लागत है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें