Home उत्तरप्रदेश MAGICAL GLOVES: जादुई दस्ताने समझाएंगे बेजुबानों के मन की बात

MAGICAL GLOVES: जादुई दस्ताने समझाएंगे बेजुबानों के मन की बात

MAGICAL GLOVES: हाथ के दस्ताने बनेंगे मूक-बधिर लोगों की आवाज। चंडीगढ़ ग्रुप आफ कॉलेज  (Chandigarh Group of College) के इंजीनियरिंग स्टूडेंट  (Engineering Student) सार्थक ने मूक बधिर लोगों के लिए एक ऐसा मैजिकल ग्‍लवस (Magical Gloves) बनाया है जिससे वे आसानी से अपनी बात आम लोगों को समझा सकेंगे।
magical gloves

यह भी पढ़े 👉 उत्तराखंडकुमाऊँ हल्द्वानी-सुखियांचल कर रहा 12 दिवसीय पशुपति नाथ काठमांडू नेपाल यात्रा, ऐेसे करें बुकिंग

सार्थक ने अपने मैजिकल ग्लव्स की खूबियों के बारे में बताते हुए कहा कि मैजिकल ग्लव्स मूक बधिर लोगों की आवाज बनेगा। ग्लव्स पर लगे बटन (Button) को दबाकर बेजुबान किसी को भी अपने मन की बात समझा सकेंगे। सार्थक ने बताया कि मैजिकल ग्लव्स को बनाने में मात्र 300 रुपय की लागत आई है। उनका कहना है कि जल्द ही पेटेंट (patent) करवा कर ग्लव्स को बाजार में लाया जाएगा ताकि यह मूक बधिर लोगों के लिए उपयोगी साबित हो सके।

जाने क्या है मैजिकल ग्लव्स

मैजिकल ग्लव्स हाथ में पहनने वाला एक इलेक्ट्रॉनिक दस्ताना  (electronic gloves) है। दस्ताने के ऊपर कुछ बटन लगाए गए हैं। बटनो को दबाने से अलग-अलग मैसेज जनरेट  (message generate) होते हैं। दस्ताने को एक एंड्राइड ऐप  (android app) की मदद से मोबाइल  (mobile) से कनेक्ट  (connect) किया जाता है। जिसके जरिए संदेश प्रसारित (message send) होते हैं। कोई भी इस एंड्राइड ऐप को अपने मोबाइल में डाउनलोड  (download) कर सकता है।

 ऐसे करता है काम

दस्ताने पर बने किसी भी बटन पर मोबाइल ऐप की मदद से कोई भी मैसेज सेट  (set) किया जा सकता है। जैसे यदि किसी मूक बधिर व्यक्ति को कोई जानकारी चाहिए या फिर उसे खाना-पीना, शौचालय जाने के बारे में बताना या कुछ पूछना है तो वह व्यक्ति इस ऐप के जरिए अपना मैसेज ग्लव्स के बटन के साथ लिंक (link) कर सकता है। और बटन दबाने के बाद वह मैसेज दूसरे व्यक्ति के मोबाइल पर चला जाएगा।

कोरोना पीड़ित संदिग्ध बोला डॉक्टर साहब मेरी जान बचा लो। देखिये अस्पताल में अंदर फिर क्या हुआ। मॉक ड्रिल अस्पताल की।