लखनऊ-लोकसभा चुनाव में यूपी से बड़ी खबर, मायावती ने दिया अखिलेश को बड़ा झटका

लखनऊ-न्यूज टुडे नेटवर्क-बुआ और बबुआ का गठबंधन लोकसभा चुनाव में भी लखड़लाने की ओर है। आज बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने फैसला कर दिया। जौनपुर से प्रत्याशी उतारकर अपने सहयोगी समाजवादी पार्टी को झटका दिया है। ऐसे उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी व राष्ट्रीय लोकदल के साथ गठबंधन कर बसपा का इरादा भाजपा को सत्ता से बाहर करने का है। लेकिन मायावती ने अखिलेश को ही झटका दे दिया। मायावती के इस फैसले से सपा मुखिया अखिलेश यादव को बड़ी परेशानी होगी। क्योंकि अखिलेश यादव जौनपुर से अपने भाई तथा मैनपुरी से सांसद तेज प्रताप सिंह यादव उर्फ तेजू को उतारना चाहते थे। लेकिन मायावती ने जौनपुर से अपना प्रत्याशी श्याम सिंह यादव को घोषित कर दिया है। पीसीएस अधिकारी श्याम सिंह यादव को जौनपुर लोकसभा से उम्मीदवार बनाया गया है।

जौनपुर से बसपा ने उतारा प्रत्याशी

आज मायावती ने लोकसभा चुनाव के लिए 16 प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की। घोषणा में सबसे बड़ा झटका उसने अपनी सहयोगी समाजवादी पार्टी को दिया है। जो चर्चा का विषय बना है। जौनपुर से समाजवादी पार्टी अपना प्रत्याशी उतारना चाहती थी, लेकिन बसपा ने यहां से अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है। समाजवादी पार्टी चाहती थी कि बसपा यहां से अपना प्रत्याशी न उतारे। वह इस सीट के बदले सपा बलिया की सीट बसपा को देने को तैयार थी। समाजवादी पार्टी जौनपुर में तेज प्रताप सिंह यादव को एडजस्ट करना चाहती थी। मायावती ने एसपी प्रमुख की इस मांग को कोई तवज्जो नहीं दी।आज बीएसपी ने जिन 16 सीटों के नामों का ऐलान किया है उसमें बाहुबली मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी का भी नाम है। एसपी प्रमुख अखिलेश यादव ने कभी अंसारी बंधुओं को पार्टी में लेने से मना कर दिया था और वह माफिया को टिकट देने के पक्ष में नहीं थे।