Lucknow : शिक्षकों के बीच शिक्षक की तरह नजर आए मुख्‍यमंत्री, कहा- अध्‍यापक की भूमिका महत्‍वपूर्ण 

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ डा. राम मनोहर लोहिया विवि में बेसिक शिक्षा विभाग  (Basic Education Department) द्वारा आयोजित राष्ट्रीय (National) संगोष्ठी व सीएसआर कॉन्क्लेव में शिरकत करने पहुंचे तो खुद एक अध्‍यापक (teacher) की तरह नजर आए। उन्‍होंने कहा कि शिक्षकों की भूमिका बहुत चुनौतीपूर्ण और महत्‍वपूर्ण है।
कॉन्‍क्‍लेव में मुख्‍यमंत्री ने कहा कि आज विश्वविद्यालयों (universities) में युवा अराजक हो रहा है, देश के टुकड़े करने की बात करता है तो उसकी शिक्षा पर प्रश्न खड़ा होता है। शिक्षक के काम पर सवाल (Questions) खड़े होते हैं। ऐसे में शिक्षकों को भी आत्‍ममंथन की जरूरत है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षक को सिर्फ स्कूल तक ही सीमित नहीं होना चाहिए। अगर चाणक्य खुद को नालंदा विश्वविद्यालय तक ही सीमित कर देते तो उस कालखंड में वह भारत को दुनिया की एक महाशक्ति के रूप में स्थापित नहीं कर पाते। शिक्षक को समाज की चुनौती (challenging) और आवश्यकता के अनुरूप खुद को तैयार करना चाहिए।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें