drishti haldwani

हल्द्वानी-भाजपा के अजय भट्ट ने पूर्व सीएम हरीश रावत को दी पटखनी, जानिये कितने लाख वोटों से हरदा की करारी हार

192

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क-नैनीताल सीट पर भाजपा प्रत्याशी अजय भट्ट को केन्द्र से लेकर राज्य तक भरपूर सहयोग मिला। इस बार सबसे हॉट सीट में नैनीताल सीट का नाम शामिल था। क्योंकि यहां एक ओर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट खड़े थे तो दूसरी ओर उनका मुकाबला करने के लिए प्रदेश के पूर्व सीएम कांग्रेस प्रत्याशी हरीश रावत मैदान में थे। ऐसे में यह मुकाबला बड़ा दिलचस्प हो गया था। लेकिन इस मुकाबले को जीतने में पूर्व सीएम एक बार फिर बहुत पीछे रह गये। वही भट्ट की जीत में रुद्रपुर में पीएम नरेन्द्र मोदी की रैली से बड़ा असर हुआ। सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत लगातार जिले भर में अजय भट्ट के समर्थन में जनसभाओं को संबोधित करते रहे। लोकसभा चुनाव में सबसे ज्यादा सक्रिय भाजपा रही। खासकर नैनीताल सीट पर सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य, जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, कालाढूंगी विधायक बंशीधर भगत, नैनीताल विधायक संजीव आर्य, मेयर जोगेन्द्र रौतेला और कई मंडल अध्यक्ष समेत भाजपा के हजारों कार्यकर्ता भाजपा प्रत्याशी भट्ट के जीत राह बनाने में जुटे रहे। एक साथ इतने बड़े नेताओं का प्रचार में जाना अजय भट्ट के लिए संजीवनी साबित हुआ। अजय भट् को 766889 वोट मिले। उन्होंने हरीश रावत को 335679 वोटों से हराया।

iimt haldwani

नहीं मिला स्टार प्रचारकों का साथ

वही नैनीताल-ऊधमसिंह नगर सीट पर भाजपा और कांग्रेस के बीच मुकाबला कांटेदार होने के चलते कांग्रेस के प्रत्याशी पूर्व सीएम हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष इंद्रिरा हृदयेश, पूर्व मंडी अध्यक्ष सुमित हृदयेश, हरीश रावत के पुत्र आनंद रावत समेत प्रदेश स्तर के बड़े नेताओं ने लोगों को रिझाने का प्रयास किया। जबकि हरीश रावत के लिए कोई भी स्टार प्रचारक हल्द्वानी में प्रचार को नहीं आया। पार्टी कार्यकर्ताओं का मनाना था कि उनके स्टार प्रचार पूर्व सीएम हरीश रावत खुद मैदान में है हल्द्वानी की जनता से उनका एक अलग लगाव है जनता हरीश रावत को अपने बीच देखना चाहती है। इसलिए हमने यहां और कोई बड़ा स्टार प्रचारक नहीं उतारा। लेकिन ये बयानबाजी गलत साबित हुई। नैनीताल और ऊधमसिंह नगर की जनता ने पूर्व सीएम हरीश रावत को नकार दिया।