LOCKDOWN: भाभी की रसोई में गरीब, बेसहारा व दूर से आए लोगों को खिलाया जाएगा भोजन 

बरेली: कोरोना वायरस (Corona virus) जैसी महामारी के बढ़ते प्रकोप के कारण गरीब बेसहारा और दूरदराज से आए यात्रियों की भोजन व्यवस्था करने के उद्देश्य से एरन फाउंडेशन ट्रस्ट (Aron Foundation Trust) की ओर से भाभी की रसोई नाम से एक कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इस कार्यक्रम में सभी राजनीतिक पार्टियों भाजपा और कांग्रेस सहित तमाम राजनीतिक संगठनों ने एकजुट होकर राजनीतिक प्रतिस्पर्धाओं से अलग होकर इस कार्यक्रम में भाग लिया। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री संतोष कुमार गंगवार ने वितरण किए जाने वाले भोजन को टेस्ट कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।
bhabi ki rasoi 1पूर्व सांसद प्रवीण सिंह ऐरन ने कहा कि ऐसे विषम समय में सभी को एकजुट होकर कोरोना वायरस जैसी महामारी की रोकथाम के लिए सरकार का सहयोग करना चाहिए। साथ ही सरकार के दिए गए दिशानिर्देशों पालन करना चाहिए। इस आपदा से निपटने के लिए किए गए लॉक डाउन (Lock down) के दौरान बाहर से आए भूखे प्‍यासे यात्रियों एवं बेसहारा गरीब जनता के लिए खानपान और भोजन की व्यवस्था करनी चाहिए। इसकी जिम्मेदारी जहां एक ओर सरकार और प्रशासन की है वहीं समाज के राजनीतिक लोगों की भी है। उन्‍होंने कहा कि इसी उद्देश्य को पूरा करते हुए एरन फाउंडेशन ट्रस्ट 14 अप्रैल तक 24 घंटे गरीब लोगों की आवश्यकताओं के अनुसार भाभी जी की रसोई से भोजन की व्यवस्था करता रहेगा। 

उन्होंने नगर विधायक और महापौर सहित एसएसपी शैलेश कुमार पांडे से आग्रह किया कि इस भोजन वितरण की व्यवस्था सुनिश्चित करें। जिससे देश के प्रधानमंत्री मोदी द्वारा बताए गए सोशल डिस्टेंस (Social distance) को कायम रखकर कोरोना वायरस जैसी महामारी से निपटा जा सके। केंद्रीय मंत्री संतोष कुमार गंगवार ने भोजन को टेस्ट कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि केंद्रीय श्रम राज्य मंत्री संतोष कुमार गंगवार तथा नगर विधायक डॉक्टर अरुण कुमार सहित महापौर उमेश गौतम और बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें