Lockdown: बरेली पुलिस ने मसीहा बनकर की इस परिवार की सहायता 

बरेली: मजदूरी के लिए अपने परिवारों को पालने के इरादे से अपने वतन नागपुर को छोड़ कर बरेली आए थे। यहां आकर वे सड़कों पर गुब्बारे, मालाएं आदि बेचकर अपने परिवार का पालन पोषण कर रहे थे। लॉक डाउन (Lock down) होने के कारण वे रोजी-रोटी व रहने के लिए परेशान हो गए। इस दौरान बरेली पुलिस (Bareilly Police) ने पूरे परिवार को बरेली सिटी की एक धर्मशाला में पहुंचाया और उनकी रहने खाने की व्यवस्था की। 
nagpur family
भरन-पोषन के इरादे से नागपुर का एक परिवार बरेली आया। जब से पूरे देश में लॉक डाउन का ऐलान हुआ है यह परिवार भुखमरी के कगार पर पहुंच गया। आज इस पूरे परिवार के बच्चों सहित लगभग 25 लोग भूखे-प्यासे दर-दर भटकने को मजबूर थे। इसकी जानकारी जब बरेली पुलिस को हुई तो उन्‍होंने मानवता दिखाते हुए परिवार के सभी सदस्यों को बरेली सिटी की एक धर्मशाला में पहुंचाया और उनकी रहने खाने की व्यवस्था की। 

दूरदराज से आए इस परिवार की महिलाओं ने बताया उनके साथ जागेश्वर, विजय, अजय, उदाराम, सहित, रन्नो, मंजू, कविता, अंजू, अर्चना बच्चों सहित परिवार में 25 लोग हैं जो कि इन दिनों भुखमरी के कगार पर पहुंच चुके हैं। उन्होंने कहा कि इतना पैसा भी नहीं बचा कि वे अपने घर नागपुर लौट सकें। उन्होंने बताया कि पुलिस वालों ने इस मुसीबत के समय में हमारी भगवान के समान हमारी सहायता की है। पुलिस वालों ने इस धर्मशाला में उनके ठहरने व खाने-पीने की व्यवस्था की व्यवस्‍था की है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें