Lockdown : प्रदेश के 20 लाख मजदूरों को मिले एक हजार रुपये  

लखनऊ। कोरोना वायरस (Corona virus) का फैलाव रोकने के लिए सरकार (Government) ने प्रदेश के सभी 75 जिलों (Districts) में लॉकडाउन किया है। इसके कारण फैक्ट्रियां और अन्‍य स्‍थानों पर बंदी होने से दिहाड़ी श्रमिकों को खासी परेशानी हो रही है। इसको देखते हुए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने मंगलवार को श्रमिक भरण-पोषण योजना शुरू की। इसके तहत 20 लाख से अधिक मजदूरों को एक-एक हजार रुपये की पहली किस्त भेजी गई है।
मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को 5 कालीदास मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास से चार श्रमिकों (Workers) को प्रतीकात्‍मक रूप से चेक देकर योजना लांच (Launched) की। ये पहली किस्‍त डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर स्कीम के तहत सीधे श्रमिकों के खाते में भेजी गई है। इस मौके पर मुख्‍यमंत्री ने आश्‍वासन दिया कि यह राहत राशि जल्द ही पल्लेदारों, रिक्शा, ई-रिक्शा चालक, रेहड़ी, ठेला और खोमचा लगाने वालों को भी मुहैया कराई जाएगी।

निशुल्‍क उपलब्‍ध कराया जा रहा राशन
मुख्यमंत्री ने बताया कि अंत्योदय राशन कार्ड धारक, निराश्रित वृद्धा अवस्था पेंशन, दिव्यांगजन पेंशन, निर्माण श्रमिक (Laborers) और प्रतिदिन कमाने वाले श्रमिकों के लिए निशुल्क राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके साथ ही जो लोग भी इससे वंचित रह जाएंगे और वे किसी भी योजना से आच्छादित नहीं है, उन्हें भी 1 हजार रुपये की सहायता राशि उपलब्ध कराई जा रही है। इसके लिए सभी डीएम को आवश्‍यक निर्देश दे दिए गए हैं।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें