LOCKDOWN: कल से नवरात्र, व्रत रखने वालों को नहीं मिल पा रही पूजन सामग्री 

बरेली: शक्ति उपासना का महापर्व नवरात्र (Navratri) 25 मार्च से शुरू हो रहा है। नवरात्र की तैयारियां भक्तों ने पूरी कर ली है। वैश्विक महामारी (Global Epidemic) कोराना (Corona) से बचाव के लिए 22 को जनता कर्फ्यू (Public Curfew) की वजह से दुकानें बंद रही। ऐसे में पूजा सामग्री (Worship Material) खरीद के लिए दुकानों पर पहुंचे लोगों को बड़ी मुश्किल के बीच पूजन सामग्री मिल सकी। कई प्रसिद्ध देवी मंदिरों (Famous Devi Temples) के साथ-साथ नगर के देवालयों (Temples) पर भी ताला बंद कर दिया गया है। 
navratri pujan samgriमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) भी लोगों से घरों ही देवी उपासनों की अपील की है। कोरोना के कारण इस बार के नवरात्र का महत्व बढ़ गया है। लोग घरों में कलश स्थापना की तैयारी में जुटे हैं। कोरोना वायरस की वजह से यूपी (UP) में लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा के बाद से बाजार में लगभग बंदी की स्थिति है। हालांकि सरकार (Government) ने इस दौरान दैनिक उपयोग में शामिल जरूरी सेवाओं को जारी रखने का ऐलान किया है। 

कोरोना जैसी महामारी से लोग डरे हुए हैं और देवी-देवताओं की शरण में हैं। इसी बीच नव संवत्सर (New Year), चैत्र नवरात्र की शुरूआत बुधवार से होगी। ऐसे में अधिक से अधिक लोग देवी की उपासना कर वैश्विक महामारी को दूर करने की प्रार्थना करेंगे। देवी मंदिरों के बंद होने के बाद लोग घरों में पूजा की तैयारी में जुटे हैं। 

जनता कर्फ्यू खत्म होते ही बाजार में पूजन सामग्री की खरीददारी को पहुंचे लोगों को अधिकांश दुकानें बंद होने की वजह से दिक्कत का सामना करना पड़ा । श्यामगंज, सुभाषनगर में जो दुकानों खुली थीं वहां चुनरी, नारियल, धूप, दीप, घी, मां दुर्गा की फोटो, कलश, ढकनी, श्रृंगार वस्तु के साथ, फलाहार में कट्ट का आटा, गुड़ ,मुंगफली, मखाना, सेंधा नमक आदि की खरीद करने वालों की भीड़ लगी रही

Coronavirus vaccine) वैज्ञानिकों ने ढूँढ निकाला कोरोना का सबसे सस्ता इलाज, 100 रुपए में ऐसे होगा कोरोना की जाँच