Coronavirus : जानिए कोरोना संक्रमण से लड़ने में कैसे फायदेमंद साबित हो सकती है ग्रीन-टी? 

 | 

कोरोना वायरस को करारी और जल्द शिकस्त देने के लिए कई शोध किए जा रहे हैं। इन शोधों के परिणामों के फलस्वरूप वैक्सीन विकसित की गई। इस क्रम में एक नई शोध के जरिए यह खुलासा हुआ है कि ग्रीन टी कोरोना संक्रमण से लड़ने में मददगार साबित हो सकती है। दुनियाभर में सदियों से ग्रीन-टी का सेवन तमाम तरह के स्वास्थ्य लाभ के लिए किया जाता रहा है, भारत में भी पिछले कुछ दशकों से इसकी मांग तेजी से बढ़ी है। अध्ययनों से पता चलता है कि ग्रीन टी का सेवन कई गंभीर बीमारियों जैसे हृदय रोग, कैंसर और वजन कम करने में बेहद फायदेमंद हो सकती है। इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सस्टेनेबल डेवलपमेंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पानी के बाद चाय, दुनिया में दूसरा सबसे ज्यादा पिया जाने वाला पेय है। ग्रीन टी को इसके फायदों के लिए काफी सालों से प्रयोग में लाया जाता रहा है। ग्रीन-टी अनऑक्सीडाइज़्ड पत्तियों से बनाई जाती है, यही कारण है कि इसमें सबसे ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट और फायदेमंद पॉलीफेनॉल्स का मात्रा पाई जाती है। दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।इसी से संबंधित हाल ही में किए गए एक अध्ययन में वैज्ञानिकों ने बताया है कि ग्रीन-टी का सेवन कोरोना संक्रमण से भी सुरक्षित रखने में सहायक हो सकता है। वैज्ञानिकों का दावा है कि ग्रीन-टी में कई ऐसे यौगिक होते हैं जो न सिर्फ कोरोना से मुकाबले में सहायक है साथ ही यह इम्यूनिटी को मजबूती देकर भविष्य में भी इस संक्रमण से सुरक्षा दे सकते हैं। आइए आगे की स्लाइडों में इसके ऐसे ही फायदों के बारे में जानते हैं।इस शोध की मानें तो ग्रीन टी में Epigallocatechin gallate (EGCG) पाया जाता है, जो कोरोना के डेल्टा स्ट्रेन से लड़ने में सक्षम है। साथ ही ग्रीन टी पीने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है।

chaitanya

आरएससी जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में वैज्ञानिकों ने बताया है कि ग्रीन टी का सेवन इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ कोविड-19 से लड़ने में भी शरीर के लिए मददगार हो सकता है। ग्रीन टी में पाया जाने वाला 'गैलोकैटेचिन' नामक एक यौगिक इसे कोरोना के खिलाफ काफी प्रभावी बना देता है।अध्ययन के लेखक डॉ सुरेश मोहनकुमार बताते हैंविभिन्न यौगिकों के अध्ययन के दौरान हमने पाया कि ग्रीन-टी में पाया जाने वाला गैलोकैटेचिन यौगिक कोरोना वायरस से मुकाबले में अच्छे परिणाम दे सकता है। इसे इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए भी प्रयोग में लाया जा सकता है, स्वाभाविक रूप से इसमें मौजूद यौगिक कोरोना से मुकाबले के लिए भी शरीर को मजबूती देंगे।ब्रिटेन के स्वानसी विश्वविद्यालय में हाल ही में किए गए इस अध्ययन में वैज्ञानिकों ने कोविड-19 से लड़ने में ग्रीन टी की भूमिका के बारे में लोगों को बताया है।