drishti haldwani

लालकुआं- चाचा ही निकला अपनी भतीजी का कातिल, ऐसे रची हत्या की पूरी साजिश

1600

 लालकुआं- शमशान घाट के पास में स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले मिली नाबालिक युवती की लाश के कत्ल का खुलासा आज लालकुआं पुलिस ने कर दिया है। घटना का खुलासा होते ही एक बार फिर उत्तराखंड में रिश्तें शर्मसार हुए है। पुलिस जानकारी मुताबिक नाबालिक का कातिल कोई और नहीं बल्कि पुलिस और मीडिया से बात कर गुमराह करने वाला बच्ची का चाचा ही निकला।

iimt haldwani

lalkuan

बता दें कि माता पिता की मौत के बाद 16 वर्षीय आरती लंबे समय से लालकुआं पश्चिमी राजीव नगर घोड़ानाला बिंदुखत्ता अपने चाचा काशी राम के वहां रह रही थी। जो 14 अगस्त को सुबह 6 बजे घर से लापता थी। जिसके बाद जंगल में लकड़ी लेने गए कुछ लोगो ने युवती की लाश को जगंल में पड़ा देखा। जिसके बाद पुलिस को मामले की जानकारी दी गई। जिसके बाद पुलिस ने मामले का खुलासा आज कर दिया है।

पुलिस जानकारी मुताबिक युवती के भाई द्वारा दी गई तहरीर के बाद मामले में पुलिस ने हर बिंदुओं पे अपनी जांच शुरू कर दी थी। वही नाबालिक के चाचा से पूछताछ पर पुलिस को उस पर शक हुआ। वही अधिक पूछताछ करने पर उसने पूरी वारदात का खुलासा कर दिया। और अपनी भतीजी की पूरी हत्या की कहानी पुलिस के समक्ष उगल दी।

भतीजी के चाल-चलन पे था शक

जानकारी मुताबिक पुलिस पूछताछ में आरोपी काशी राम ने बताया कि उसको अपनी भतीजी आरती के चाल चलन में शक था। घटना के दिन उसने आरती को तड़के 4 बजे एक लड़के के साथ जंगल की तरफ जाते देखा। वही पीछा करने पर दोनों को आपत्तिजनक स्थिति में देख वह आग बबूला हो गया। और चुन्नी के गला घोटकर अपनी भतीजी का कत्ल कर दिया। और किसी को शक न हो इसलिए उसे शमशाम घाट के पास जंगल में फैक आया।

वही पुलिस से बचने के लिए पुलिस तहकीकात में युवती के कत्ल की आशंका बताते हुए पूरी कार्यवाई के दौरान पुलिस के साथ रहकर गुमराह करता रहा। मामले में लालकुआं पुलिस ने खुलासा करते हुए आरोपी काशी राम को गिरफ्तार कर लिया है। वही पूछताछ में काशी राम ने अपना जुल्म कबूल कर लिया है।