लालकुआं-स्वरोजगार के लिए आंचल की अनोखी पहल, इस योजना में मिल रहा 20 से 25 प्रतिशत का अनुदान

लालकुआं-प्रवासियों व राज्य के बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने के उद्देश्य से सरकार द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत डेरी क्षेत्र में दूधारू पशु क्रय के लिए 25 प्रतिशत अनुदान व नगरीय क्षेत्रों में आंचल मिल्क बूथ स्थापना के लिए 20 प्रतिशत अनुदान में ऋण उपलब्ध कराये जाने का निर्णय लिया है । जानकारी देते हुए नैनीताल दुग्ध संघ अध्यक्ष मुकेश बोरा ने बताया कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत व दुग्ध मंत्री डा. धन सिह रावत के निर्देशन में प्रवासी उत्तराखण्डवासियों व राज्य के बेरोजगार लोगों को कम लागत में रोजगार उपलब्ध कराना है।

cow yojna
मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत प्रदेश में स्वरोजगार के साधन उपलब्ध कराने के लिए राज्य समेकित सहकारी विकास परियोजना तथा गंगा गाय महिला डेरी योजना अंतर्गत तीन व पांच दूधारू पशुओं के क्रय के लिए 25 प्रतिशत अनुदान तथा विपणन व्यवस्था को सदुढ करने के लिए नगरीय क्षेत्रों में आंचल मिल्क बूथ स्थापना के लिए 20 प्रतिशत अनुदान पर ऋण दिया जा रहा है। बोरा ने बताया कि सरकार के लक्ष्य के अनुरूप नैनीताल दुग्ध संघ द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में पशुपालन को स्वरोजगार के प्रति जागरूक एवं स्वावलम्बी बनाने का प्रयास किये जा रहे है। बोरा ने दुग्ध संघ अंतर्गत एक लाख लीटर का अत्याधुनिक डेरी प्लान्ट के लिए 90.10 प्रतिशत अनुदान स्वीकृत करने पर दुग्ध मंत्री डा. धन सिह रावत का आभार प्रकट किया।

Slider

aanchal

दुग्ध संघ के सामान्य प्रबन्धक अजय क्वीरा ने बताया किमुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों की अर्थव्यवस्था को सुदढ़ करने के लिए समेकित सहकारी विकास परियोजना में 03 पशु यूनिट की 300 व 05 पशु की 178 यूनिट दूधारू पशु तथा गंगा गाय महिला डेरी योजना अंतर्गत 01 यूनिट की 45 दूधारू पशु क्रय किये जाने का लक्ष्य है जिससे दुग्ध उत्पादक लाभान्वित होंगे। नगरीय क्षेत्रों में 50 आंचल मिल्क बूथ स्थापित किये जाने है। जिससे स्वरोजगार के साथ-साथ दुग्ध उर्पाजन में वृद्धि होगी। आंचल मिल्क बूथ खुलने से उपभेाक्ताओं को उच्च गुणवत्ता का दूध एवं दुग्ध उत्पाद उचित मूल्य पर उपलब्ध हो सकेंगे।
इस मौके पर भगत सिंह कुमटिया संचालक मण्डल सदस्य, डीपी सिंह सहायक निदेशक डेरी विकास, अमृत लाल श्रीवास्तव दुग्ध निरीक्षक, भाजपा नेता लक्ष्मण सिंह खाती, नारायण सिंह बिष्ट, दीपक जोशी मंडल अध्यक्ष, डा. रमेश कुमार व दुग्ध उत्पादक डीके दुम्का आदि मौजूद थे।

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें