लालकुआं-8 जनवरी को राष्ट्रव्यापी हड़ताल की तैयारी, मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोल

Slider

Lalkaun News-ऐक्टू राज्य कमेटी की बैठक दीपक बोस भवन, कार रोड, बिंदुखत्ता में संपन्न हुई। राज्यस्तरीय कमेटी को संबोधित करते हुए ऐक्टू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कामरेड राजा बहुगुणा ने कहा कि मोदी सरकार हर क्षेत्र में प्राइवेटाइजेशन की नीतियों को बढ़ावा दे रही है। इसके खिलाफ आगामी 8 जनवरी को ट्रेड यूनियनों के संयुक्त आह्वान पर राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आयोजन किया गया है। इस आयोजन को ऐतिहासिक बनाना है ताकि कारपोरेटपरस्त मोदी सरकार को पीछे धकेलने के लिए बाध्य किया जा सके।

Slider

उन्होंने कहा कि आज बैंक, बीमा, डिफेंस, हेल्थ, एजुकेशन, रेलवे, सार्वजनिक क्षेत्र की अन्य कंपनियों आदि तमाम क्षेत्रों में प्राइवेटाइजेशन की गति को अत्यंत तेज कर दिया गया है। बीएसएनल के कर्मचारियों को आज सैलरी नहीं मिल रही है। सरकार कह रही है कि व्यापार करना उसका काम नहीं है। बीएसएनल की कीमत पर प्राइवेट कंपनियों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। मल्टीनेशल को बढ़ावा मिल रहा है। डिफेंस में कार्यरत 54 प्रोडक्शन यूनिट को प्राइवेट में देने का प्लान है। शिक्षा के क्षेत्र में स्कूलों को तेजी से बंद किया जा रहा है।

राजा बहुगुणा ने कहा कि सबसे घातक यह है कि श्रम कानूनों में पूंजीपतिपरस्त व घोर मजदूर विरोधी संशोधनों को लागू किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि पूंजीपतियों के लाभ के लिए इन कानूनों में संशोधनों की आवश्यकता है। सरकार को कॉरपोरेटों की खूब चिंता है और इस कारण वह मजदूर वर्ग पर लगातार हमले कर रही है। उन्होंने संविधान की मूल आत्मा पर प्रहार करने वाले नागरिकता संशोधन बिल की कड़ी आलोचना करते हुए इसके खिलाफ उठ खड़ेे हुए देशव्यापी आंदोलन का समर्थन किया। आंदोलन को व्यापक बनाने के लिए प्रगतिशील लोकतांत्रिक शक्तियों को सभी जगह मोदी-शाह की सरकार के खिलाफ उतरना समय की मांग है।

आगामी 8 जनवरी की अखिल भारतीय आम हड़ताल को सफल बनाने के लिए हल्द्वानी, रुद्रपुर, सितारगंज, रामनगर, धारचूला आदि स्थानों में संयुक्त ट्रेड यूनियनों के कन्वेंशन करने का भी निर्णय लिया गया। बैठक की अध्यक्षता ऐक्टू के प्रदेश अध्यक्ष निशान सिंह ने की। इस दौरान बैठक में मुख्य रूप से रीता कश्यप, उदय सिंह धामी, किशन बघरी, ललित मटियाली, बच्ची सिंह बिष्ट, मोहन सिंह, दीवान सिंह जग्गी, अमित शर्मा, डॉ कैलाश पाण्डेय आदि ऐक्टू राज्य कमेटी सदस्य मौजूद रहे।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें