PMS Group Venture haldwani

क्या है गंगा गाय महिला डेयरी योजना, 5 हजार लगाये पर ऐसी मिलेगी 50 हजार की गाय

(गंगा गाय महिला डेयरी योजना )- उत्तराखंड में शुरू की गई गंगा गाय महिला डेयरी योजना का लाभ कई महिलाएं उठा रही है। प्रदेश सरकार ने इसका महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए इस योजना की शुरूआत की। योजना अन्तर्गत ग्राम स्तर पर गठित दुग्ध सहकारी समितियों की 4795 महिला सदस्यों को आर्थिक रूप से स्वावलम्बी बनाने के उद्देश्य से 01 संकर नस्ल की दुधारू गाय उपलब्ध करायी जायेगी। इसके लिए उन्हें बैंक ऋण व अनुदान भी उपलब्ध करवाया जायेगा। स्वच्छ दुग्ध उत्पादन सुनिश्चित करने हेतु लाभार्थी के दुधारू पशुओं के लिए पशुशाला व पशु नांद निर्माण हेतु अनुदान राशि उपलब्ध करायी जायेगी। योजनान्तर्गत रुपये 52,000 ईकाई लागत प्रस्तावित है, जिसमें से 27,000 रुपये राजकीय अनुदान, 20000 रुपये बैंक ऋण तथा 5000 लाभार्थी अंश सम्मिलित है।

यह भी पढ़ें-ट्रांसपेार्ट नीति में हुआ परिवर्तन जानिए क्या-क्या रहेंगे इनोवेशन और रिफॉम्स

Ganga Gay yojana

यह भी पढ़ें-भीमताल-उत्तराखण्ड विजन – 2030 का विमोचन, ऐसे धरातल तक पहुंचेंगे विकास कार्य

गंगा गाय महिला डेयरी योजना कई समितियों को लाभान्वित किया गया। योजनान्तर्गत प्रथम वर्ष 2014-15 में 366 तथा द्वितीय वर्ष 2015-16 में 1099 पशुक्रय किया गया। तृतीय वर्ष 2016-17 में 1040 पशु क्रय किया गया है। चतुर्थ वर्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्ष 2017-18 में 1043 पशु क्रय किये गये जबकि पंचम वर्ष 2018-19 में 711 पशु क्रय की प्रकिया गतिमान है। गंगा गाय योजना के अंर्तगत दु्ग्ध समितियों से जुड़े काश्तकारों को अब आंचल पशु आहार सस्ता मिलेगा। सरकार ने आहार की कीमत 80 रुपये प्रति कुंतल घटा दी है। इस योजना से दुग्ध उत्पादन बढ़ाने और पलायन रोकने में इस योजना से काफी मदद मिलेगी। हाल ही में संपन्न हुई कैबिनेट बैठक में कहा गया कि गंगा गाय महिला डेयरी का लाभ कॉपरेटिव के मेंबर के सभी सदस्यों को मिलेगा। योजना में महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी।

Coronavirus vaccine) वैज्ञानिकों ने ढूँढ निकाला कोरोना का सबसे सस्ता इलाज, 100 रुपए में ऐसे होगा कोरोना की जाँच