inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश जानिए, बरेली में एसएसपी आफिस के बाहर क्यों गूंजे पुलिस मुर्दाबाद के...

जानिए, बरेली में एसएसपी आफिस के बाहर क्यों गूंजे पुलिस मुर्दाबाद के नारे, देखें पूरी खबर…

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बरेली में शनिवार को एसएसपी कार्यालय के बाहर दर्जनों की संख्‍या में एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने पुलिस मुर्दाबाद के नारे लगाए तो प्रशासन अवाक रहा गया। हत्‍या के आरोपियों को क्‍लीनचिट देने के मामले में शनिवार को एबीवीपी कार्यकर्ताओं का गुस्‍सा फूट पड़ा। पीड़ित परिवार के साथ एबीवीपी के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने पुलिस कार्यालय पर प्रदर्शन किया। मामला एबीवीपी नेता के भाई की हत्‍या से जुड़ा है।

दरअसल बरेली में एक माह पूर्व 15 नवंबर को थाना बारादरी निवासी एबीवीपी नेता के भाई की विवाद के बाद कुछ लोगों ने गोली मारकर हत्‍या कर दी थी। तब 18 नवंबर को इलाज के दौरान निजी अस्‍पताल में उसकी मौत हो गई थी। अंतिम संस्‍कार के वक्‍त पोस्‍टमार्टम को लेकर परिजनों ने तब काफी हंगामा किया था। जिसके बाद मृतक के भाई कमल की शिकायत पर पुलिस ने अजय गुप्ता उर्फ शैंकी और मुकेश गुप्‍ता पर कार्रवाई करते हुए दोनों को जेल भेज दिया था।

बाद में पुलिस ने जांच के दौरान मिले तथ्‍यों के आधार पर दोनों हत्‍यारोपियों को क्‍लीनचिट देकर कोर्ट में रिपोर्ट पेश की थी। जिसके आधार पर दोनों आरोपियों की जेल से रिहाई का रास्‍ता साफ हो गया। पुलिस के अनुसार क्राइम सीन-रिक्रिएशन में अभी तक जो बात सामने आई है उस हिसाब से 15 फीट की दूरी से बैठकर योगेश को गोली मारी गई है। मामले में पुलिस जांच कर रही है।

इसकी खबर जब पीड़ित पक्ष को लगी तो मृतक के परिजनों ने पुलिस रिपोर्ट को चुनौती देते हुए पुलिस की क्‍लीनचिट कार्रवाई को गलत बताया। मामले में आरोपियों पर सख्‍त कार्रवाई की मांग भी की। आरोपियों पर पुलिस कार्रवाई की मांग और गलत रिपोर्ट कोर्ट में पेश करने की शिकायत अफसरों से भी कई बार की गई लेकिन मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई।

एबीवीपी नेता के भाई के हत्‍यारों के जेल से बाहर आने की खबर के बाद मामले में राजनैतिक हंगामा तेज हो गया। शनिवार को गुस्‍साए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने एसएसपी आफिस पर जमकर हंगामा और प्रदर्शन किया। अचानक पुलिस आफिस पर प्रदर्शन और नारेबाजी होने से माहौल गरमा गया। हालांकि तब एसएसपी वहां मौजूद नहीं थे। मौके पर तुरंत फोर्स तैनात कर दिया गया। शहर कोतवाल गीतेश कपिल ने मौके पर पहुंचकर प्रदर्शन कर रहे परिजनों और एबीवीपी के कार्यकर्ताओं को समझाया और मामले में निष्‍पक्ष उचित कार्रवाई का आश्‍वासन दिया।

पूरे प्रकरण में परिजनों और एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने दोबारा जांच और आरोपियों पर कार्रवाई की मांग की। इसके बाद प्रदर्शन और हंगामा शांत हो सका। एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने कहा कि यदि मामले में पुलिस ने सख्‍त कार्रवाई नहीं की तो विद्यार्थी परिषद पूरे शहर में सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करेगी।

Related News

मथुरा में रुसी महिला ने दी जान बजह जान के आप हो जाएंगे हेरान..

न्यूज़ टुडे नेटवर्क। उत्तर प्रदेश के मथुरा में एक विदेशी महिला (Russian women) ने बिल्डिंग से छलांग लगा दी।  घटना के बाद आस पास...

बरेली : कैंट विधायक ने बरेली में चल रहे इस निर्माण में लगाए घोटाले के आरोप

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कैंट विधायक एवं प्रदेश के पूर्व वित्‍त मंत्री राजेश अग्रवाल ने श्‍यामगंज से पटेल चौक तक चल रहे सीवर लाइन के...

राष्ट्रभर मेें मनाया जा रहा बालिका शिशु दिवस, जानिए इसका उद्देश्य

न्यूज टुडे नेटवर्क। बालिका शिशु के लिये राष्ट्रीय कार्य दिवस के रुप में हर वर्ष राष्ट्रीय बालिका शिशु दिवस मनाया जाता है। हर साल...

लखनऊ: 70 साल का हुआ उत्तर प्रदेश, चौथी बार मनाय़ा जा रहा स्थापना दिवस

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। 70 साल पहले 24 जनवरी 1950 के दिन ही उत्तर प्रदेश को यह नाम मिला था। उससे पहले अंग्रेजों के शासन...

(video) बरेली की महिलाओं को निरोगी बना रहीं रितु अग्रवाल, जानिए इनका सफरनामा 

न्यूज टुडे नेटवर्क। वर्तमान समय में महिलाओं की भूमिका बदल सी गई है। वे एक दोहरी जिंदगी जी रही हैं। घर की ज़िम्मेदारी के...

प्रधानमंत्री की प्रेरणा से भारतीय हुनर को नई पहचान मिली

न्यूज़ टुडे नेटवर्क। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हुनर हाट क्राफ्ट, क्यूजीन और कल्चर का अद्भुत संगम है। आत्मनिर्भर भारत...