मॉनसून को लेकर खटीमा प्रशासन सतर्क , बनाई बाढ़ नियंत्रण चौकियां

242

उधम सिंह नगर : मौसम विभाग के रिपोर्ट के अनुसार उत्तराखंड में आने वाले मॉनसून के लिए प्रशासन ने उधम सिंह नगर के खटीमा में 6 बाढ़ नियंत्रण चौकियां निर्मित की है। बाढ़ नियंत्रण चौकियों पर 24 घंटे कर्मचारी मौजूद रहेंगे। बाढ़ नियंत्रण चौकियों में आपदा राहत कार्यों के लिए सरकारी खाद्य विभाग की दुकानों से खाद्यान्न, केरोसिन और खाने के पैकेट रखने के उपजिलाधिकारी ने निर्देश जारी कर दिए हैं।

khatima1

6 बाढ़ राहत चौकियों का निर्माण


उधम सिंह नगर जनपद की खटीमा तहसील बाढ़ की दृष्टि से अति संवेदनशील इलाका माना जाता है। आने वाले मानसून सत्र को देखते हुए स्थानीय प्रशासन ने खटीमा तहसील में 6 बाढ़ राहत चौकियों का निर्माण किया है। इन बाढ़ राहत चौकियों पर 24 घंटे कर्मचारियों की तैनाती रहेगी। 15 जून से यहां बाढ़ चौकियां अपने अस्तित्व में आ जाएंगी।

बाढ़ नियंत्रण कक्ष निर्मित

खटीमा तहसील क्षेत्र के प्राथमिक पाठशाला सिसैया, प्राथमिक विद्यालय मझोला, सुनपहर, गांगी, जंगल जोगी ठेर में बाढ़ चौकियों के साथ खटीमा तहसील में बाढ़ नियंत्रण कक्ष निर्मित किया गया है। हर बार चौकी में टीम प्रभारी समेत नौ कर्मचारियों की तैनाती की गई है। इसमें राजस्व विभाग, ग्राम विकास विभाग, वन विभाग, पशुधन प्रसार अधिकारी, आंगनबाड़ी, पुलिस, मंडी, नागरिक चिकित्सालय के साथ ही बाल विकास परियोजना के अधिकारी शामिल रहेंगे, जो बाढ़ की स्थिति में रहत कार्य संभालेंगे।

Rain_

मौसम वैज्ञानिक डॉ. आरके सिंह का कहना है कि प्रशांत  मानसून थोड़ा देर से पहुंचेगा। उन्होंने बताया कि मानसून आठ जुलाई तक उत्तराखंड में दस्तक दे सकता है। उत्तराखंड में मानसून की बारिश सामान्य से पांच प्रतिशत तक कम हो सकती है। हालांकि पांच प्रतिशत अधिक या कम बारिश को मौसम वैज्ञानिक सामान्य ही मानते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here