हल्द्वानी-काव्य संग्रह “दस्तक लफ्जों की” का विमोचन, दिल्ली पुस्तक मेले बढ़ी मांग

Slider

Haldwani News- देश का व्यंग्य पर केंद्रित व्यंग्य संचयन चाटुकार कलवा जिसका आज लेखक मंच पर लोकार्पण हुआ। इस मौके पर छत्तीसगढ़ से गिरीश पंकज, वरिष्ठ कथाकर हरीश पाठक, रमेश सैनी, व्यंग्य समालोचक, पंकज सुबीर, महेश दर्पण, डॉ संजीव कुमार अतिथि के रूप मेंं शामिल रहे। इसके अलावा चाटुकार कलवा में देश के 56 चुनिंदा व्यंग्यकार शामिल किए गए हैं।

Slider

चाटुकार कलवा की प्रति नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेले में भावना प्रकाशन पर उपलब्ध है। जल्द ये प्रतियां संग्रह में शामिल सहयात्रियों को महीने के अंत में भेजी जाएगी।

आज विश्व पुस्तक मेला दिल्ली में एक नया काव्य संग्रह दस्तक लफ्जों की, का विमोचन हुआ, जिसमें देश के प्रख्यात साहित्यकार व्यंग्यकार गेमकार प्रेम जनमेजय, एनबीटी के संपादक लालित्य ललित, गिरीश पंकज, रमेश सैनी वरिष्ठ कथाकार, हरीश पाठक, पंकज सुबीर, महेश दर्पण शामिल रहे। दस्तक लफ्जों की इंडिया नेटबुक से प्रकाशित हुई है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें