iimt haldwani

जोशीमठ-श्रद्धालुओं के लिए खुले हेमकुंड साहिब के कपाट, गोविंदघाट में बढ़ी रौनक

69

जोशीमठ-आज से हेमकुंड साहिब के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए। सुबह करीब 9.15 मिनट पर गुरुग्रंथ साहिब को पंच प्यारे की अगुवाई में दरबार साहिब में लाया गया। इसके बाद 10 बजे सुखमणी का पाठ किया गया। इससे पहले शुक्रवार को गोविंदघाट से पंच प्यारों की अगुवाई में रवाना हुआ तीर्थयात्रियों का जत्था देर शाम घांघरिया पहुंचा। बताया जा रहा है कि पहले जत्थे में करीब आठ हजार तीर्थयात्री शामिल हैं। गोविंदघाट में तीर्थयात्रियों की दिनभर चहल-पहल बनी रही। यात्रा व्यवस्था की जानकारी लेने के लिए गढ़वाल आयुक्त डा. पुरुषोत्तम जिला प्रशासन की टीम के साथ हेमकुंड के लिए रवाना हुए हैं। उन्होंने बताया कि इस वर्ष हेमकुंड साहिब में बर्फबारी अधिक हुई है। सेना ने यात्रा मार्ग खोल दिया है, जो भी कमी होगीए उसे एक सप्ताह के भीतर पूरा कर लिया जाएगा।

drishti haldwani

Hemkud Sahib

बर्फ को काटकर बनाया गया रास्ता

हेमकुंड साहिब के प्रबंधक सेवा सिंह ने बताया कि करीब तीन किमी के यात्रा मार्ग में अधिक बर्फ है। यहां बर्फ को काटकर रास्ता बनाया गया है। गुरुद्वारे की ओर से सभी व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई हैं। आज सेना की बैंड धुन के साथ रवाना हुए श्रद्धालुओं के जत्थे सेना के जवानों की बैंड धुन से हेमकुंड साहिब यात्रा का श्रीगणेश हुआ। गोविंदघाट से पुलना गांव तक चार किलोमीटर की दूरी वाहन से तय की जा सकती है लेकिन उत्साही तीर्थयात्रियों ने अपनी यात्रा पैदल ही शुरू की। यात्रा शुरू होने से गोविंदघाट में भी रौनक बढ़ गई है।

सभी दुकानें सज गई हैं।